JharkhandRanchi

जुलाई में होगा एनटीपीसी चतरा का ट्रायल, प्लांट के शिलान्यास को हो गया 23 साल

Ranchi: एनटीपीसी चतरा पावर प्लांट का ट्रायल जुलाई में किया जाएगा. अधिकारियों की मानें तो जुलाई के पहले सप्ताह में पावर प्लांट का ट्रायल संभव है. इसके पहले इस साल मार्च से प्लांट का ट्रायल किया जाना था. जिससे टाल दिया गया. वहीं, प्लांट को विधिवत शुरू करने में समय लगेगा. क्योंकि बिजली वितरण के लिये ट्रांसमिशन लाइन तैयार नहीं हुई है. पावर प्लांट के लिए चतरा से टंडवा तक संचरण लाइन का निर्माण किया जाना है. तकनीकी कारणों में निर्माण कार्य में समय लग रहा है. ऐसे में ट्रांसमिशन लाइन पूरा होते, प्लांट शुरू किया जायेगा. फिलहाल प्लांट के लिये तीस किलोमीटर तक संचरण लाइन बनकर तैयार है. जानकारी हो कि पावर प्लांट का शिलान्यास साल 1999 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने किया था. ऐसे में शिलान्यास के 23 साल बाद तक प्लांट शुरू नहीं हो पाया है.

ये भी पढ़ें- 196.56 करोड़ में बनेगा चतरा बाइपास, निकला टेंडर

1980 मेगावाट बिजली उत्पादन का है लक्ष्य: इस पावर प्लांट में तीन यूनिट है. जहां से 1950 मेगावाट बिजली उत्पादन होना है. इससे राज्य को लगभग 450 से 500 मेगावाट बिजली मिलेगी. सेंट्रल इलेक्ट्रिक ऑथोरिटी ट्रांसमिशन संचरण लाइन पर काम कर रही है. हर एक यूनिट से 800 मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है. हालांकि कंपनी की ओर से अभी प्रति यूनिट 650 मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है. वहीं, 1450 मेगावाट केंद्रीय पूल में दे दी जायेगी, जिससे अन्य राज्यों को बिजली मिलेगी. ऊर्जा विभाग का आंकलन है कि आने वाले समय में राज्य में बिजली की खपत लगभग 2500 मेगावाट होगी. ऐसे में सौर ऊर्जा के साथ अपने स्रोतों से बिजली आपूर्ति पर बल दिया जा रहा है.

Sanjeevani

ये भी पढ़ें- गिरिडीह कांग्रेस ऑफिस के समीप बस मालिक पर बाइक सवार अपराधियों ने चलाई गोली

Related Articles

Back to top button