National

NSA अजीत डोभाल ने कहा, #Kashmir के लोग सरकार के फैसले के साथ , पाकिस्तान के मंसूबे कामयाब नहीं होनेवाले

NewDelhi :  कश्मीर में आम लोग सरकार के फैसले के साथ हैं.आनेवाले समय में  में यह प्रदेश नये अवसर लेकर आयेगा.  370 कश्मीर के लिए स्पेशल स्टेटस नहीं, स्पेशल भेदभाव था.  पाकिस्तान  के मंसूबे कामयाब नहीं होनेवाले हैं,  क्योंकि कश्मीर में पूरी तरह से शांति है और हालात सामान्य हैं.

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने यह बात कही है. कहा कि अधिकतर कश्मीरी आर्टिकल 370 हटाये जाने के फैसले में हमारे साथ हैं. वह अपने लिए बेहतर अवसर, आर्थिक प्रगति, रोजगार के अवसर देख रहे हैं. अजीत डोभाल ने कहा कि सिर्फ कुछ ही लोग ऐसे हैं जो निजी स्वार्थ के कारण इस फैसले का विरोध कर रहे हैं.

सैन्य बलों द्वारा सामान्य जनता को प्रताड़ित किये जाने की खबरों का खंडन करते उन्होंने कहा, भारतीय सेना प्रदेश में आतंकियों से लड़ने के लिए काम कर रही है.  स्थानीय पुलिस और अर्धसैन्य बल ही आम तौर पर सुरक्षा-व्यवस्था देख रहे हैं. सेना द्वारा परेशान किये जाने का तो सवाल ही नहीं उठता. प्रदेश में हालात सामान्य होने का दावा करते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा कि प्रदेश के 199 में से सिर्फ 10 पुलिस स्टेशन क्षेत्र में ही पाबंदिया हैं.  थाना क्षेत्र को छोड़कर कहीं कोई पाबंदी नहीं है. 100 फीसदी लैंडलाइन फोन काम कर रहे हैं.

Catalyst IAS
ram janam hospital
इसे भी पढ़ें-  अरुणाचल प्रदेश में चीनी घुसपैठ  : सैटेलाइट तस्वीरों ने की अरुणाचल के नेताओं के दावों की पुष्टि  
The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

पाकिस्तान के पास सिर्फ आतंकवाद ही हथियार

अजीत डोभाल ने कहा कि पाकिस्तान के पास सिर्फ आतंकवाद का ही हथियार है और उसे हम कामयाब नहीं होने देंगे. इस क्रम में डोभाल ने सीमा पार आतंकियों के सक्रिय होने की पुष्टि भी की. एनएसए अजीत  डोभाल ने कहा कि राइट टु एजुकेशन, राइट टु प्रॉपर्टी जैसे 106 कानून थे जो 370 की वजह से जम्मू कश्मीर में लागू नहीं थे.  कहा कि यह स्पेशल स्टेटस नहीं स्पेशल भेदभाव था.

सीमा पार से आतंकी गतिविधियों का निर्देश मिलने की पुष्टि करते हुए डोभाल ने कहा कि सीमा से 20 किमी. की दूरी पर पाकिस्तान के कम्युनिकेशन टावर हैं. एनएसए ने कहा कि हमने कुछ संदेश सुने हैं जिनमें कहा जा रहा है, सेब से भरे इतने ट्रक कैसे भेजे जा रहे हैं, क्या उनको रोक नहीं सकते. क्या हम तुमको चूड़ियां भेजें? अजीत डोभाल ने पाकिस्तान की ओर से कोडवर्ड में की जा रही बातों को  मतलब बताया कि वे सामना अपने गुर्गों से हथियार और लोजेस्टिक के इस्तेमाल की बात कर रहे हैं.

पाकिस्तान में सीमा पार से 230 आतंकियों की पहचान हुई

एनएसए डोभाल ने  कहा, पाकिस्तान में सीमा पार से 230 आतंकियों की पहचान हुई है.  उनमें से कुछ को अरेस्ट किया गया है और कुछ की चिह्नित किया गया है.  हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से सतर्क हैं. डोभाल ने  सोपोर में घायल हुई ढाई साल की बच्ची को इलाज के लिए एम्स लाने का निर्देश दिया है.

कश्मीरियों की रक्षा के लिए हमने संकल्प लिया है

डोभाल ने कहा कि कश्मीरियों की रक्षा के लिए हमने संकल्प लिया है और इसके लिए अगर हमें कुछ पाबंदियां लगानी हो तो हम वह भी करने के लिए तैयार हैं.  पाक प्रायोजित आंतकवाद पर उन्होंने कहा, पाकिस्तान के पास अब एक मात्र हथियार आतंकियों की मदद करना और आतंक फैलाना भर ही है.

अजीत डोभाल ने बताया कि शनिवार को एक बड़े फल विक्रेता को पाकिस्तानी आतंकियों ने मारने की कोशिश की.  उन्होंने कहा, फल विक्रेता के ट्रक को रोका गया और उसके बारे में पूछा, लेकिन वह शायद नमाज के लिए गये थे इसलिए नहीं मिले.  एक दुकानदार को दुकान खोलने के कारण गोली मार दी. इन घटनाओं के जरिए पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय जगत में यह दिखाने की कोशिश कर रहा है कि कश्मीर में हालात खराब हैं.

इसे भी पढ़ें- #Chandrayaan2: सॉफ्ट लैंडिंग से 2.1 किमी पहले टूटा संपर्क, चांद पर नहीं पहुंच सका विक्रम

Related Articles

Back to top button