BiharNational

बिहार राजग में अब रार नहीं, फार्मूला तय, भाजपा–जदयू को 17-17 व लोजपा को छह सीटें

NewDelhi : बिहार में लोकसभा की 40 सीटों के बंटवारे का एनडीए ने रविवार को ऐलान कर दिया है.  भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी घोषणा की. अमित शाह के आवास पर हुई बैठक के बाद भाजपा–जदयू-लोजपा की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह घोषणा की.  बैठक में बिहार सीएम नीतीश कुमार, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान और उनके बेटे सांसद चिराग पासवान भी मौजूद थे.  प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमित शाह बताया कि भाजपा और जदयू 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी.  वहीं, लोजपा को छह सीटें दी गयी हैं. इस क्रम में अमित शाह ने कहा कि कौन-सी सीट किस दल को मिलेगी, इस पर चर्चा होनी बाकी है. घोषणा के बाद शाह ने जहां 2019 में 2014 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा किया, वहीं नीतीश कुमार ने कहा है कि एनडीए बिहार में 2009 से भी अधिक सीटें जीतेगी. शाह ने कहा, रामविलास पासवान को आगे आने वाले राज्यसभा चुनाव में एनडीए का प्रत्याशी बनाया जायेगा. भाजपा  अध्यक्ष ने कहा, एनडीए की गठबंधन की स्ट्रेंथ को देखकर तीनों पार्टियों ने फैसला लिया है. जल्द ही एनडीए का राजनीतिक अजेंडा लोगों के सामने लेकर जायेंगे.

1996 से ही हम कह रहे हैं कि राम मंदिर का समाधान कोर्ट के फैसले से होगा

इस अवसर पर  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, कौन किस सीट पर चुनाव लड़ेगा इसका फैसला दो-तीन दिन में हम लोग करेंगे.  वहीं, रामविलास पासवान ने कहा, मैं अरुण जेटली जी का धन्यवाद करता हूं.. मैं अमित शाह का धन्यवाद करता हूं. हमने आपस में बैठकर समझौता किया. नीतीश कुमार ने कहा, आज से नहीं 1996 से ही हम कह रहे हैं कि राम मंदिर का समाधान कोर्ट के फैसले से होगा या फिर आपसी सहमति से सुलझेगा. मेरी आदत नहीं है अनावश्यक बोलने की. मेरी आदत है काम करने की. नीतीश ने कहा कि बिहार में बहुत अच्छे नतीजे आयेंगे. एनडीए में सीट शेयरिंग का फॉर्म्युला तय हो जाने के बाद पासवान काफी सहज नजर आये. उन्होंने दावा किया कि गठबंधन पार्टियों के बीच सबकुछ ठीक था और आगे भी रहेगा.   हमारे अंदर कभी कुछ गड़बड़ नहीं थी.  कहा कि अगली बार फिर मोदी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनेगी; बिहार में 40 में से 40 सीटों का टारगेट है.

advt

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close