BusinessJamshedpurJharkhandMain SliderNEWS

Good News : अब छोटे किसानों को आसानी से मिलेगा लोन, फॉक्सहॉग वेंचर्स ने ग्रामीणों के लिए शुरू किया वेंचर कैपिटल

Jamshedpur : भारत में लघु, मध्यम और सूक्ष्म व्यवसाय विशेष रूप से कृषि और महिला केंद्रित उद्यमों के वित्तपोषण पर केंद्रित संगठन फॉक्सहॉग वेंचर्स इंडिया ने शुक्रवार को जमशेदपुर में अपना शाखा कार्यालय शुरू किए जाने की घोषणा की. कंपनी का लक्ष्य इस क्षेत्र में वित्त वर्ष 23-24 तक 5,000 किसान परिवारों को लाभ पहुंचाना है.

6 माह में कंपनी करेगी 15 करोड़ का निवेश
कंपनी का लक्ष्य अगले 6 महीनों में 15 करोड़ रुपये के निवेश के साथ इस क्षेत्र में वेंचर कैपिटल प्रक्रिया शुरू करना है. कंपनी द्वारा 2 से 3 साल की अवधि के लिए तीन प्रकार के निवेश की पेशकश की जाती है. ये पेशकश हैं- व्यक्तिगत किसान परिवारों के लिए 25,000 रुपये तक का वित्तपोषण, छोटे किसानों और डेयरी मालिकों के लिए 75,000 रुपये तक का और किसानों के समूह के लिए 2 लाख रुपये तक का वित्तपोषण.

झारखंड में जमशेदपुर और रांची में खुले कार्यालय
कंपनी का लक्ष्य भारत के टियर टू और टियर थ्री शहरों में प्रवेश करना है, जहां कृषि और सहायक गतिविधियों के लिए वित्तीय सहायता प्राप्त करने के रास्ते कठिन बने हुए हैं. छोटे शहरों और तहसीलों एवं ग्राम आधारित समुदायों में अपने विस्तार को निरंतर जारी रखते हुए फॉक्सहॉग ने झारखंड में जमशेदपुर और रांची, बिहार में पटना, असम में गुवाहाटी और आसपास के शहरों, जिलों में अपने शाखा कार्यालयों का उद्घाटन किया है.

बैंक नहीं देते लोन छोटे किसानों को
देश भर के किसान मौसमी कार्यों के साथ-साथ पशुपालन, मछली पालन, बीज, उर्वरक या खेती के लिए जमीन खरीदने जैसी गतिविधियों के लिए कृषि और डेयरी ऋण का लाभ उठाते हैं. बैंक आमतौर पर छोटे किसानों को ऋण देने के लिए तैयार नहीं होते हैं क्योंकि छोटे किसानों के पास आमतौर पर ऋण के लिए गिरवी रखने हेतु कोई कोलेटरल सिक्यूरिटी नहीं होती है. इन परिस्थितियों में किसानों को यह अभिनव ऋण वेंचर कैपिटल फर्म द्वारा की गई अपनी तरह की पहली पेशकश है.

महिला सदस्यों को लोन में प्राथमिकता
फॉक्सहॉग वेंचर्स के इंडिया हेड और प्रबंध निदेशक तरुण पोद्दार ने कहा कि फॉक्सहॉग ने किसान परिवारों, विशेष रूप से परिवार की महिला सदस्यों को छोटे ऋण प्रदान करके वित्त पोषण में ‘क्रांतिकारी नवाचार’ की प्रक्रिया शुरू की है. गांव के साहूकारों द्वारा ली जाने वाली भारी ब्याज दरों और कई किसानों के बढ़ते कर्ज के जाल को देखते हुए उन्हें कम दरों पर संस्थागत ऋण प्रदान करना महत्वपूर्ण है. किसानों को निरंतर आजीविका की आवश्यकता है क्योंकि उनका योगदान देश की अर्थव्यवस्था के लिए बहुमूल्य है. ग्रामीण भारत में फॉक्सहॉग वेंचर्स की पहल से छोटे किसानों को सबसे ज्यादा फायदा होने की उम्मीद है.

इसे भी पढ़ें – पलामू में गरजे सीएम हेमंत सोरेन,कहा- मोदी राज में दल और सरकार में मिट गया भेद

Related Articles

Back to top button