Main SliderRanchi

#GoodNews :अब एक घंटे में होगी गर्भवती महिलाओं की कोरोना जांच, सदर अस्पतालों में लग रहे हैं ट्रूनेट मशीन

विज्ञापन

Ranchi: राज्य में कोरोना महामारी से निपटने के लिए विभिन्न तरह के उपाय सामने आ रहे हैं. राज्य के लगभग सभी सदर अस्पतालों में ट्रूनेट मशीन इंस्टॉल की जा रही है. इस मशीन की मदद से अब महज एक घंटे में ही दो गर्भवती महिलाओं की कोरोना जांच हो सकेगी.

दिनभर में 20 गर्भवती महिलाओं की कोरोना जांच करने की सरकार की योजना है. राज्य के लगभग सभी सदर अस्पतालों में एक सप्ताह के अंदर मशीन से कोरोना के जांच की शुरूआत कर दी जाएगी.

ट्रूनेट मशीन के लग जाने से रांची सहित सभी जिलों के सदर अस्पताल में गर्भवती महिलाओं की इलाज में आ रही परेशानी से निदान मिल सकेगा.

advt

क्योंकि गर्भवती महिलाओं को जांच करवाने या एडमिट होने से पहले  डॉक्टर्स कोरोना जांच कराने को कह रहे हैं. जिससे इनकी परेशानी बढ़ गयी है. ऐसे जांच की रिपोर्ट आने में 6 घंटे का वक्त लग जाता है. जिससे कोई भी इमरजेंसी होने पर गर्भवती महिलाओं को ही झेलना पड़ता है. लेकिन यह मशीन लगने से ये प्रक्रिया आसान हो जायेगी.

इसे भी पढ़ें – #Jharkhand: 17 मई से पहले कई चीजों में मिल सकती है छूट, सरकार ने तैयार किया प्लान, सीएम की मुहर का इंतजार

सिर्फ मई में होना है 51935 महिलाओं का प्रसव

बता दें कि राज्यभर में सरकारी आंकड़ों के हिसाब से 51935 गर्भवती महिलाओं को चिन्हित किया गया है. जिनका प्रसव मई में ही होना है. डॉक्टर एहतियात के तौर पर अधिकतर गर्भवती महिलाओं को कोरोना जांच कराने की सलाह दे रहे हैं. नहीं कराने की स्थिति में उन्हें अंतिम समय में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

ऐसे में सभी को समय रहते कोरोना जांच करा लेने की सलाह दी जा रही है. एक महीने में लगभग 52 हजार मरीजों की कोरोना जांच कर पाना मुश्किल हो सकता था.  इसको देखते हुए सदर अस्पतालों मे ट्रूनेट मशीन इंस्टॉल किया जा रहा है. जिससे सिर्फ एक घंटे में कोरोना की जांच रिपोर्ट आ जाएगी.

adv

इसे भी पढ़ें – केंद्र ने राज्य सरकारों से मांगा सहयोग, कहा– प्रवासियों को रेलवे ट्रैक और सड़कों पर पैदल चलने से रोकें 

क्या है टूरनेट मशीन

ट्रूनेट मशीन एक चिप बेस्ड मशीन है. जिसमें गर्भवती महिलाओं का कोरोना जांच किया जा सकेगा. एक घंटे में रिपोर्ट मिल जाएगी. इसके लिए सभी मशीन को ऑपरेट करने की ट्रनिंग दी जा चुकी है.

इस मशीन के आ जाने से डॉक्टरों और प्रसव विभाग में काम करने वाली नर्सों के मन से भय समाप्त हो जाएगा.

क्योंकि इससे पहले सदर अस्पताल में गर्भवती महिला के प्रसव के बाद कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद से पांच नर्स संक्रमित हो गयी थीं.

जिसके बाद से गायनी के डॉक्टरों में यह डर समा गया है और गर्भवती महिलाओं को कोरोना जांच करा लेने की सलाह दी जा रही है.

इसे भी पढ़ें –#Jharkhand की जेलों में मैनपावर की भारी कमी, कर्मियों की कमी से हो चुकी है कई आपराधिक घटनाएं

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button