न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिरिडीहः कुख्यात अपराधी शहादत अंसारी बुढ़वाशेर गांव से गिरफ्तार, एक पिस्तौल और जिंदा कारतूस बरामद

सड़क लूट और हत्या के 38 केस मामले हैं दर्ज

365

Giridih: कुख्यात अपराधी शहादत अंसारी को काफी मशक्कत के बाद ताराटांड़ थाना के बुढ़वाशेर गांव से गिरिडीह पुलिस गिरफ्तार करने में सफल रही. एसपी सुरेन्द्र झा ने कहा कि भगोड़ा अपराधी शहादत अंसारी को दबोचने में सदर एसडीपीओ जीतवाहन उरांव की रणनीति महत्वपूर्ण रही. शहादत को गिरफ्तार करना आसान नहीं था.

इसे भी पढ़ें – सीएनटी ही नहीं आर्मी की जमीन पर भी माफिया ने कर लिया कब्जा और देखता रहा प्रशासन-1

बुधवार को एसडीपीओ जीतवाहन उरांव को जब गुप्त सूचना मिली, तो उसके बाद एसपी सुरेंद्र झा के निर्देश पर एसडीपीओ के नेतृत्व में चार विशेष टीमों का गठन किया गया. जिसमें एक टीम का नेतृत्व एसडीपीओ कर रहे थे. चारों टीम पहले अलग-अलग हुईं और मिली गुप्त सूचना के आधार पर बुढ़वाशेर गांव को चारों तरफ से घेरा. इसके बाद चारों टीम के पुलिस अधिकारी भगोड़ा शहादत को दबोचने में सफल रहे.

इसे भी पढ़ें – शर्मनाक: झारखंड के 2149550 लोगों के पास इनकम का कोई साधन नहीं, 61750 लोग मांगते हैं भीख

बुधवार देर रात हुई गिरफ्तारी

बुधवार की देर रात हुई गिरफ्तारी के बाद गुरुवार को एसपी सुरेन्द्र झा, एएसपी दीपक कुमार और एसडीपीओ जीतवाहन उरांव ने बरवाडीह स्थित पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता के दौरान गिरफ्तार शहादत अंसारी को लेकर कई जानकारी दी. प्रेसवार्ता में एसपी झा ने बताया कि शहादत अंसारी व उसका बड़ा भाई समद अंसारी अहिल्यापुर के जामजोरी गांव के रहनेवाले हैं. दोनों भाई मिल कर अपराधियों के गिरोह का संचालन करते हैं.

Related Posts

#MobLynching :  प्रतिबंधित पशु काटने के आरोप में भीड़ ने तीन लोगों की पिटाई की, एक की मौत 

मृतक की पहचान लापुंग थाना के गोपालपुर गांव के रहने वाले  कलंतुस बारला के रूप में हुई है.

इसे भी पढ़ें- झारखंड में शिक्षा का हाल : 58.7% युवा आबादी को नहीं आता है पढ़ना-लिखना

इधर छापेमारी के दौरान कुख्यात शहादत के पास से छापेमारी टीम ने 7 एमएम का ऑटोमेटिक पिस्तौल, 3 कारतूस, सड़क लूट के दौरान बाइक सवारों से लूटे गये 11 हजार नगद के अलावे दो कीमती मोबाइल सेट के साथ एक सिम कार्ड भी बरामद किया है.

एसपी झा ने प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि शहादत ने पूछताछ में कई राज उगले हैं. शहादत पर सड़क लूट और हत्या के 38 से अधिक केस दर्ज हैं. एसपी ने बताया कि चारों टीम में जितने पुलिस अधिकारी शामिल थे, उनलोगों को रिवार्ड देने का अनुशंसा की जायेगी. गुरुवार को हुए प्रेसवार्ता के बाद पुलिस ने कुख्यात भगोड़ा अपराधी शहादत को जेल भेज दिया.

इसे भी पढ़ें – देश में बढ़ रहा है कट्टरता का खतरा, आईएसआईएस अपने पैर पसारने में कोशिश में : रिपोर्ट

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: