JharkhandRanchi

गैंगस्टर अमन साव गिरोह के सदस्य समीर बागची के पासपोर्ट पर नार्थ ईस्ट का पता, एटीएस ने किया था जब्त

Ranchi : झारखंड एटीएस ने बीते दिनो राज्य के सात जिलों रांची, धनबाद, पलामू, रामगढ़ ,चतरा ,हजारीबाग और बोकारो में सुजीत सिन्हा तथा अमन साहू गिरोह से संबंधित कुल 16 स्थानों पर छापेमारी की थी. रांची जिले में समीर बागची उर्फ कल्लू बंगाली के ठिकानो पर छापेमारी की थी. इनमें संदिग्ध दस्तावेज पर प्राप्त किया हुआ पासपोर्ट, हथियार का लाइसेंस, हथियार कारतूस व जमीन खरीद से संबंधित दस्तावेज बरामद किया था.

इसे भी पढ़ें : पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति पाने वाले छात्र अब 30 सितंबर तक कर सकते हैं आवेदन 

एटीएस को समीर बागची के यहां छापेमारी के दौरान जो पासपोर्ट मिला था, उसमें समीर का पता नार्थ ईस्ट का है. जानकारी के मुताबिक समीर का पासपोर्ट भी नागालैंड के पते पर बना है. एटीएस के सामने जो आर्म्स लाइसेंस प्रस्तुत किया गया था, वह भी नागालैंड से ही जारी किया गया है. एटीएस ने लाइसेंस की जांच के लिए भी नागालैंड स्थित आर्म्स मजिस्ट्रेट को पत्र लिखा है. झारखंड में लंबे समय से एक रैकेट सक्रिय रहा है, जो नागालैंड से फर्जी आर्म्स का लाइसेंस बनवाता है. आर्म्स लाइसेंस और पासपोर्ट फर्जी पाए जाने के बाद समीर बागची के खिलाफ अलग से एफआईआर दर्ज की जा सकती है.

advt

इसे भी पढ़ें : सिविल सेवा परीक्षा में झारखंड का जलवा, टॉप-10 में धनबाद के यश जालूका और अपाला मिश्रा

समीर बागची एक आईपीएस अधिकारी का करीबी बनकर रांची में जमीन कारोबार में उतरा था. उस समय आईपीएस अधिकारी की मदद से समीर ने रिंग रोड समेत रांची के कई प्रमुख इलाकों में जमीन कब्जाया था. हालांकि बाद में वह अमन साव के गिरोह से जुड़ गया.

adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: