न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दो से नामांकन, 29 अप्रैल को वोटिंग लेकिन चतरा समेत कई क्षेत्र के वोटर्स नहीं जानते कौन होगा उम्मीदवार

1,065

Ranchi: वोट करो और देश गढ़ों. इस नारे के साथ लोकतंत्र की खूबसूरती का बखान किया जाता है. लेकिन राजनीति के अपने तौर-तरीके हैं. वोटर्स भले ही समझे कि राजनीति समाज को एक धागे में पिरो कर रखने के लिए होती है.

लेकिन सच राजनीतिक दलों के हुक्मरान भली भांति जानते हैं. बात हो रही है लोकतंत्र के महासमर में उन लोकसभा क्षेत्रों के वोटर्स की जिन्हें अब तक यह पता नहीं है कि उन्हें आखिर वोट किसे करना है.

इसे भी पढ़ेंःBJP नेता कांग्रेस से दोगुना 20 हेलीकॉप्टर और 12 बिजनेस जेट से करेंगे चुनावी कैंपेन

hosp3

हद तो चतरा लोकसभा सीट को लेकर है. यहां बीजेपी हो या महागठबंधन किसी ने भी अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है. चतरा में 29 अप्रैल को मतदान होना है. दो से ही नामांकन शुरू है. अब सिर्फ 26 दिन बचे हैं उम्मीदवारों को वोटर्स तक पहुंचने के लिए. लेकिन उम्मीदवारों के नाम पर सस्पेंस कायम है.

बीजेपी कन्फ्यूज में आखिर कौन होगा रांची, चतरा और कोडरमा का उम्मीदवार

राज्य में सत्ता का सुख भोग रही और सबसे बड़ी पार्टी सबसे ज्यादा कन्फ्यूजन में है. रांची में मतदान छह मई को मतदान होना है. नामांकन 10 से 18 अप्रैल तक है. यानि नामांकन को महज सात दिन बचे हैं. लेकिन रांची जैसे बड़े लोकसभा क्षेत्र के लिए अब तक उम्मीदवार के नाम पर पार्टी मुहर नहीं लगा सकी है.

रांची के लिए कभी आदित्य साहू तो कभी संजय सेठ तो कभी अभिनेता मनोज बाजपेयी का नाम आता है. लेकिन अब तक पुख्ता तौर पर यह नहीं कहा जा सकता है कि रांची के बीजेपी वोटर्स आखिर किस उम्मीदवार को वोट करेंगे.

यही हाल चतरा और कोडरमा का भी है. चतरा में नामांकन शुरू भी हो गया है. लेकिन उम्मीदवार के नाम को लेकर जिच जारी है. वहां से सुनील सिंह और प्रणव वर्मा के नामों पर चर्चा हो रही है. कोडरमा का भी कमोबेश वही हाल है. हालांकि कोडरमा से अन्नपूर्णा देवी का नाम लगभग तय माना जा रहा है. लेकिन अधिकारिक घोषणा नहीं हो पा रही है.

इसे भी पढ़ें – झारखंड कांग्रेस : रांची से सुबोधकांत, सिंहभूम से गीता कोड़ा और लोहरदगा से सुखदेव भगत लड़ेंगे चुनाव

महागबंधन भी उम्मीदवारों के नाम घोषित करने में कन्फ्यूज

सात-चार-दो-एक सीटों के बंटवारे के फॉर्मूले का राजद ने पहले से ही बंटाधार कर दिया है. सुभाष यादव ने बागी तेवर अपनाते हुए चतरा से चुनाव लड़ने के लिए अपने आलाकमान से सहमति ले ली है. इसके बाद अब कांग्रेस चतरा और पलामू को लेकर क्या करेगी वो क्लियर नहीं है.

पार्टी इन दोनों जगहों पर उम्मीदवार के नाम पर मंथन कर रही है. वहीं कांग्रेस ने अपने सात सीटों में से तीन सीटों पर ही उम्मीदवार के नामों की घोषणा की है. रांची से सुबोधकांत सहाय, लोहरदगा से सुखदेव भगत और चाईबासा से गीता कोड़ा.

बाकी खूंटी, हजारीबाग, चतरा, धनबाद और पलामू से कौन मैदान में होगा उसकी घोषणा नहीं की गयी है. इस सीटों पर कयासों का दौर जारी है. जेएमएम ने भी अपने दो सीटों पर नामों की घोषणा नहीं की है.

वैसे तीन सीटों पर कौन लड़ेगा वो जेएमएम की तरफ से साफ है. गिरिडीह का कन्फ्यूजन भी लगभग क्लीयर है. जगरनाथ महतो पर ही जेएमएम फिर से भरोसा करने वाली है. वहीं दुमका से शिबू सोरेन और राजमहल से विजय हांसदा का नाम तय है.

इसे भी पढ़ें – हेमंत सोरेन का स्थायी पता पूछनेवाली बीजेपी पर जेएमएम का पलटवार, कहा ‘खौफ में भाजपा नेता, कर रहे मूर्खतापूर्ण सवाल’

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: