JharkhandLohardaga

शौचालय निर्माण में कोताही बर्दाश्त नहीं, पेंशन योजनाओं की रिक्तियों को जल्द भरें: लोहरदगा डीसी

Lohardaga: लोहरदगा उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो की अध्यक्षता में मंगलवार को निर्मल स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा की गयी. बैठक मे कार्यपालक अभियंता, पेयजल एवं स्वच्छता प्रमण्डल द्वारा इस मिशन के तहत बने शौचालयों की समीक्षा की गयी.

समीक्षा के दैरान मौजूद पदाधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि 31 जुलाई तक इस मिशन में 90-98 प्रतिशत लक्ष्य पूरा होना चाहिए. साथ ही तैयार किये गये शौचालय का फोटो निर्धारित लिंक में ससमय अपलोड भी किया जाना चाहिए.

उन्होंने जिले में चल रही योजनाओं में किसी भी तरह की कार्य में कोताही बर्दाश्त नहीं करने की बात कही. वहीं जिम्मेवार पदाधिकारी को शौचालय निर्माण कार्य तेजी से पूर्ण कराने का आदेश दिया.

advt

सामुदायिक शौचालय निर्माण के मामले में लोगों से बैठक कर स्थान का चयन करने की बात कही जिसमें लोगों की भावनाओं का ख्याल रखते हुए निर्माण पर जोर दिया.

इसे भी पढ़ें – इस बार नहीं होंगे बाबा बर्फानी के दर्शन, कोरोना संकट के कारण रद्द की गई अमरनाथ यात्रा

जरूरतमंदों को मिले पेंशन

बैठक में उपायुक्त ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण को रोकना ही सर्वोच्च प्राथमिकता है. किसी भी स्थिति में बाजार-हाट में भीड़ नहीं लगनी चाहिए. प्रखण्ड विकास पदाधिकारी लोगों में सोशल डिस्टिेंसिंग और लॉकडाउन का अनुपालन सुनिश्चित करायें.

सामाजिक सुरक्षा कोषांग की ओर से प्रखण्डवार पेंशन के लिए रिक्तियों की समीक्षा की गयी. इसमें इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना (60-79 वर्ष), इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना (80 वर्ष या इससे उपर), इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजना, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विकलांग पेंशन योजना, मुख्यमंत्री राज्य वृद्धावस्था पेंशन योजना, मुख्यमंत्री राज्य आदिम जनजाति पेंशन योजना, मुख्यमंत्री राज्य विधवा पेंशन योजना, स्वामी विवेकानंद निःशक्त स्वालंबन प्रोत्साहन योजना आदि शामिल थीं. उपायुक्त ने कहा कि पेंशन जरूरतमंद को मिले. पेशन योजन की रिक्तियों को जल्द भर लिया जाय.

adv

समीक्षा बैठक में उप विकास आयुक्त आर रॉनिटा, डीआरडीए निदेशक, कार्यपालक पदाधिकारी नगर पर्षद, पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता, सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा एवं सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े, राज्य में 13 हजार से ज्यादा जांच रिपोर्ट पेंडिंग

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button