JharkhandLead NewsRanchi

कोई भी ऐसा राज्य नहीं, जो झारखंड के संसाधनों का प्रयोग नहीं करता है : धर्मेंद्र प्रधान

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, झारखंड प्रदेश के 21वें प्रांतीय अधिवेशन में शामिल हुए कई गणमान्य लोग

Ranchi : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, झारखंड प्रदेश के 21वें प्रांतीय अधिवेशन में शामिल हुए केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस व स्टील मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि झारखंड की भूमि को लक्ष्मी ने अथाह समृद्धि दी है.

कोई भी ऐसा राज्य नहीं है जो झारखंड के संसाधनों का प्रयोग नहीं करता है. उन्होंने कहा कि विद्यार्थी परिषद में लगनेवाले नारे सिर्फ नारे नहीं हैं, बल्कि उससे सामाजिक जीवन दर्शन की अनुभूति होती है. जब मैं झारखंड का भ्रमण करता हूं तो सांस्कृतिक दृष्टि से झारखंड घर जैसा लगता है.

इसे भी पढ़ें : दो दिन से लापता है आठ साल का आर्यन, हर आने-जानेवाले से बेटे को लाने की गुहार लगा रही मां

अभाविप एक विचार प्रवाह और सामाजिक शक्ति की पाठशाला है, जहां राष्ट्रवाद की पढ़ाई को आत्मसात कर कार्यकर्ता समाज में प्रथम श्रेणी में खड़ा रहता है. राजधानी के सरस्वती शिशु विद्या मंदिर, धुर्वा में आयोजित इस कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि सह सचिव के तौर विकास भारती से जुड़े पद्मश्री विजेता अशोक भगत, राष्ट्रीय मंत्री विनीता इंदवार, प्रदेश अध्यक्ष प्रो. नाथू गाड़ी, स्वंय सेवक संघ के उ.पू. क्षेत्र सह संघचालक देवव्रत पाहन स्वागत समिति अध्यक्ष कुणाल अजमानी सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे. 21वें प्रांतीय अधिवेशन के उद्घाटन सत्र से पूर्व प्रदर्शनी का उद्घाटन भी हुआ.

अशोक भगत ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद समाज परिवर्तन करनेवाला संगठन है. यह देश के निर्माण में अहम भूमिका निभा रहा है. विद्यार्थी परिषद का कार्यकर्ता देश का नेतृत्व कर रहा है, यह हमारे लिए गौरव की बात है. परिषद ने बांग्लादेशी घुसपैठियों को एक्सपोज करने का काम किया है.

देवव्रत पाहन ने युवाओं को प्रेरणा देते हुए बताया कि अगर युवा ठान ले तो वह इंद्र को भी परास्त कर सकते हैं. जिस युवा में जोश न हो, वह निर्जीव के समान है. आज तक जितनी भी क्रांतियां हुई हैं, उसका नेतृत्व युवा वर्ग के द्वारा हुआ है.

कार्यक्रम में रांची की मेयर आशा लकड़ा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश, प्रदेश संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह, NEC मेंबर डॉ पंकज कुमार, डॉ श्रवण सिंह, क्षेत्रीय संगठन मंत्री निखिल रंजन आदि सहित कुल 276 कार्यकर्तागण उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : देखिये वीडियो- साइबर क्राइम पर क्या कह रहे हैं पूर्व मंत्री रणधीर सिंह

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: