GiridihJharkhand

गिरिडीह भाजपा में कोई बगावत के सुर नहीं : मरांडी

Giridih: दो दिवसीय प्रवास के दौरान गृह जिला गिरिडीह पहुंचे भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मंराडी ने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान भाजपा को देश की बड़ी पार्टी बताते हुए कहा कि हर बड़े घर में खटपट होती है. मामूली खटपट गिरिडीह भाजपा में भी है. इससे घबराने की जरूरत नहीं है. समय रहते सब कुछ बेहतर हो जायेगा.

पार्टी के भीतर अदुंरुनी कलह को लेकर विधायक दल के नेता मंराडी ने कहा कि जिनको पद नहीं मिला है, वो हल्ला करेगें ही. लेकिन इसका यह मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए कि पार्टी में बगावत के सुर फूट पड़े हैं. बड़ी पार्टी है तो सबों को पद मिलना भी संभव नहीं. ऐसे में नाराज कार्यकर्ताओं को आगे बढ़कर नये पदाधिकारियों का स्वागत करना चाहिए. अब दल नये लोगों को काम करने का मौका दे रहा है.

बातचीत के दौरान मंराडी ने पार्टी में पैसे लेकर पद बांटने के आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि जब दूसरे दलों की तरह भाजपा में पैसे देकर टिकट नहीं बांटे जाते है तो पद क्यों बांटे जाएंगे. एक सवाल के जवाब में भाजपा नेता मंराडी ने कहा कि भाजपा सरकार में ही मधुबन में मोती लाल बास्के की मौत पुलिस मुठभेड़ में हुई थी, उस वक्त वे विपक्ष में रहते हुए मुठभेड़ को फर्जी बताए थे, लेकिन झामुमो की सरकार अब मोती लाल बास्के के प्रभावित परिजनों को मदद नहीं पहुंचा पा रही है.

जब मंराडी से पूछा गया कि हेमंत सरकार उन्हें प्रतिपक्ष नेता का दर्जा देने से क्यों कतरा रही है तो इसके जवाब में भाजपा नेता ने इसे हेमंत सरकार की नाकामी बताते हुए कहा कि कई कमेटी और उनकी नियुक्तियों में प्रतिपक्ष नेता की भूमिका महत्पूर्ण होती है. इनकी नियुक्तियों से बचने के लिए हेमंत सरकार ऐसा कर रही है.

बातचीत के दौरान मंराडी ने यह भी कहा कि प्रतिपक्ष के नेता का दर्जा नहीं दिया जाने स्पीकर द्वारा हेमंत सरकार के दबाव में काम किया जाना है.

प्रेसवार्ता के दौरान पूर्व मंत्री चन्द्रमोहन प्रसाद, पूर्व अध्यक्ष सुनील अग्रवाल समेत कई मौजूद थे.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: