JharkhandRanchi

तकनीकी शिक्षा के लिए राज्य से बाहर जाने की जरूरत नहीं, यहीं मिलेंगी डिग्रियां: मुख्यमंत्री

Ranchi : मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को चिरौंदी स्थित साइंस सेंटर में नवनिर्मित वराहमिहिर तारामंडल एवं झारखंड प्रौद्योगिकी (टेक्निकल) विश्वविद्यालय के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया. इस  कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि नामकुम स्थित झारखंड प्रौद्योगिकी (टेक्निकल) विश्वविद्यालय का भी उद्घाटन आज हो रहा है. इस विश्वविद्यालय का शुभारंभ होने से राज्य के तकनीकी क्षेत्र में पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राओं को काफी लाभ पहुंचेगा.

Jharkhand Rai

इस क्षेत्र में पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों को अब बाहर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी, उन्हें यहीं से डिग्रियां प्राप्त होंगी. तकनीकी के इस युग में बच्चे और ज्यादा मजबूत होंगे. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि वैज्ञानिकों ने हमेशा देश का नाम रोशन किया है. उन्होंने विश्वास जताया कि विज्ञान और तकनीकी के क्षेत्र में हो रहे विकास देश को नये आयाम देंगे.

इसे भी पढ़ें – NewsWing Impact: #JPSC ने पहले रद्द किया असिस्टेंट इंजीनियर का विज्ञापन, फिर 637 पदों के साथ निकाली नियुक्ति

मुख्यमंत्री ने विज्ञान के क्षेत्र में रुचि रखने वाले छात्र-छात्राओं से अपील किया कि वे पूरी निष्ठा के साथ अपनी पढ़ाई करें और जीवन के पथ पर निरंतर आगे बढ़ते रहें. आने वाले समय में झारखंड से भी वैज्ञानिक उभरकर देश और दुनिया में राज्य का नाम रोशन करें. उन्होंने राज्यवासियों को दुर्गा पूजा की शुभकामनाएं दी. इस अवसर पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने तारामंडल पर बनायी गई लघु फिल्म भी देखी.

Samford

तारामंडल खगोलीय विद्या के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगा

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि रांची खगोलीय शिक्षा का राष्ट्रीय केंद्र बनेगा. हमारी सरकार का विज्ञान और तकनीकी के प्रगति पर पूरा जोर है. समय के साथ आगे बढ़ना जरूरी है. नई-नई तकनीकों को अगर हम बदलते समय के साथ नहीं अपनाएंगे तो चीजें समय के साथ आगे नहीं बढ़ पायेंगी.

विज्ञान के विकास के बिना राज्य या देश तरक्की नहीं कर सकता. शिक्षा, कारोबार, उद्योग या फिर सरकारी मशीनरी इन सभी क्षेत्रों के विकास में विज्ञान और नई तकनीकों का महत्वपूर्ण स्थान है. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि तारामंडल खगोलीय विद्या के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि विज्ञान के प्रचार-प्रसार एवं शिक्षाविद छात्र-छात्राओं में विज्ञान के प्रति रुचि जागृत करने के लिए अभियंत्रण एवं डिप्लोमा टॉपर को प्रोत्साहित राशि सरकार दे रही है. शोधकर्ता एवं कार्यशाला सेमिनार व्याख्यान आयोजन के लिए अनुग्रह राशि भी सरकार मुहैया करा रही है.

खगोलविद् वराहमिहिर के नाम पर है तारामंडल

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि वराहमिहिर तारामंडल झारखंड का पहला अत्याधुनिक तकनीक पर आधारित तारामंडल है. इस तारामंडल का नाम बड़े चिंतन के साथ वराहमिहिर रखा गया है. वराहमिहिर महान दार्शनिक खगोलशास्त्री और गणितज्ञ थे. वराहमिहिर गुप्त काल के छठवीं सदी में  उज्जैन में जन्म लिए थे.

इसे भी पढ़ें – क्या सरकार लिखेगी – कि सासंदों के मुफ्त खाने की राशि का वहन जनता करती है  

इनोवेशन हब भवन का शिलान्यास

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि चिरौंदी स्थित इस साइंस सेंटर में ही एक करोड़ 80 लाख रुपए की लागत से नई इनोवेशन भवन का भी शिलान्यास आज हो रहा है. इस भवन का भी निर्माण कार्य समय सीमा के अंतर्गत पूरा करना राज्य सरकार का लक्ष्य है.

उन्होंने कहा कि हम ज्ञान विज्ञान एवं तकनीकी के युग में जी रहे हैं. वर्तमान समय की मांग है कि इस क्षेत्र में इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत किया जाय. इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए सरकार ने इनोवेशन हब भवन निर्माण करने का संकल्प लिया है. सरकार का लक्ष्य है कि यह कार्य समय सीमा के अंतर्गत पूरा हो.

इसे भी पढ़ें –  #ODF झारखंड का सच : कागजों पर #Toilet निर्माण दिखा राशि भी कर दी खर्च, जमीन पर सिर्फ गड्ढे और अधूरी दीवारें

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: