न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र से लापता चार बच्चों का अब तक कोई सुराग नहीं, खोजबीन जारी

4 जनवरी से लापता इन बच्चों का अबतक कोई सुराग नहीं मिल पाया है.

34

Ranchi :  जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र में स्थित शिव मंदिर के पास रहने वाले चार नाबालिग बच्चे बीते चार दिनों से लापता हैं. चारों के नाम विकास मुंडा, संतु मुंडा, आशीष उरांव, भोला मुंडा हैं. 4 जनवरी से लापता इन बच्चों का अबतक कोई सुराग नहीं मिल पाया है. फिलहाल जगन्नाथपुर थाना में चारों बच्चे के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई गई है और खोजबीन भी जारी है.

एक साथ लापता हो गए सभी नाबालिग बच्चे

जानकारी के मुताबिक, सभी बच्चे एक साथ ही लापता हुए. जिसके बाद परिजनों और स्थानीय लोगों ने रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड से लेकर कई स्थानों पर खोजबीन की, लेकिन कुछ पता नहीं लग सका. फिर परिजनों ने उनकी गुमशुदगी का रिपोर्ट दर्ज करवाया.

पहले लापता हुए बच्चों को भी खोज नहीं पायी है पुलिस

इससे पहले भी लापता हुए तीन नाबालिग बच्चों को पुलिस खोज नहीं पायी है. जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के मौसीबाड़ी में रहने वाले मनोज उरांव के तीन बच्चे लापता हो गये थे. मनोज उरांव के तीनों बच्चे 29 अप्रैल 2018 से लापता हैं. मनोज उरांव ने बच्चों के लापता होने की शिकायत भी दर्ज करायी थी. लेकिन पुलिस तीनों नाबालिग बच्चों का अब तक कोई पता नहीं लगा पायी है.

वहीं जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के ही चार अन्य बच्चों को लापता होने पर स्थानीय लोगों में आक्रोश है. लोगों का कहना है कि अगर पुलिस जल्द ढूंढ कर नहीं लाती है, तो आंदोलन करेंगे.

घूमने गये हैं सभी बच्चे

इस मामले में जब जगन्नाथपुर थाना प्रभारी से जानकारी ली गयी तो उनका कहना था कि सभी बच्चे घूमने गये हैं. साथ ही कहा कि चारों बच्चों ने फूल बेचकर 1200-1500 रुपए कमा लिये थे और उसे लेकर ही वे घूमने निकल गये हैं. उन चारों को सीसीटीवी फुटेज में रांची स्टेशन पर देखा गया , लेकिन फिर वे चारों तुरपंत कहीं और निकल गये. खोजबीन जारी है और जल्दी ही उन्हें पुलिस ढूंढ़ निकालेगी.

इसे भी पढ़ें – कंबल घोटाला जिस रेणु पानिक्कर के कार्यकाल में हुआ, उसने एक मंच पर जुटाया सत्ता और विपक्ष को, सरयू राय चीफ गेस्ट

इसे भी पढ़ें – CBI विवादः केंद्र को SC से झटका, आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने का फैसला रद्द लेकिन फिलहाल नहीं ले सकेंगे नीतिगत फैसला

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: