Lead NewsNational

दिल्ली में प्रदेश प्रभारी से मिले कांग्रेस विधायक, कहा- पार्टी के समर्पित लोगों को भी मिले जगह

20 सूत्री और निगरानी समिति का गठन इसी माह: आरपीएन सिंह

Ranchi: कांग्रेस विधायकों के दल ने शुक्रवार को दिल्ली में झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह से मुलाकात की. मौके पर नियोजन नीति और 20 सूत्री- निगरानी समिति के गठन को लेकर चर्चा हुई. विधायकों ने कहा कि 20 सूत्री और निगरानी समिति में पार्टी की भागीदारी हो. पार्टी में कई ऐसे समर्पित नेता और कार्यकर्ता हैं उन्हें जगह मिले. सारी बातों को सुनने के बाद प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह ने आश्वासन दिया कि 20 सूत्री और निगरानी समिति का गठन जल्द कर लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस माह के अंत तक वे रांची आएंगे और अपनी निगरानी में समिति का गठन कराएंगे. आरपीएन सिंह से मिलने वालों में विधायक दीपिका पांडेय, बन्धु तिर्की व प्रदीप यादव शामिल थे.

कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत हो काम


विधायकों ने प्रदेश प्रभारी से कहा कि राज्य में हब सरकार बन रही थी तो जेएमएम और कांग्रेस ने मिल कर कॉमन मिनिमम प्रोग्राम तय किया गया, जिसपर अब काम शुरू नहीं हुआ. जो जरूरी है. विधायकों ने 27 प्रतिशत ओबीसी आरक्षण पर भी बात की.

 

advt

 

मान्यता दिलाइये नहीं तो अगली बार इस्तीफा लेकर आऊंगा

 

 

विधायक बन्धु तिर्की ने प्रदेश प्रभारी से स्पष्ट तौर पर कहा कि पार्टी के बड़े नेताओं कज मौजूदगी में हमलोगों ने पार्टी का दामन थामा, लेकिन हमें आज तक मान्यता नहीं मिली है, जो चिंता का विषय है. श्री तिर्की ने कहा कि अगर लगता है कि हमलोगों 10th शिड्यूल का उल्लंघन किया तो इस्तीफा ले लीजिए और हमे टिकट दीजिये हम कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीतकर आएंगे. दूसरी ओर उन्होंने यह भी कहा कि मान्यता नही मिली तो अगली बार आऊंगा और आपको इस्तीफा सौंप दूंगा.

 

 

राज्य में नियोजन नीति बहुत जरूरी

 

विधायकों ने कहा कि नियोजन नीति राज्य में बहुत जरूरी है. पूर्ववर्ती सरकार ने जो नियोजन नीति बनाई थी उसे सरकार ने रदद् कर दिया है. नियोजन नीति नहीं होने से नियुक्ति भी लंबित है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: