Crime NewsJharkhandLateharNEWS

लातेहार: विशुनदेव सिंह हत्या मामले में चार उग्रवादी गए जेल

Latehar: लातेहार पुलिस ने सदर थाना क्षेत्र में पुल निर्माण योजना के मुंशी की हत्या के मामले में प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन जेजेएमपी (के सुप्रीमो पप्पू लोहरा के भाई समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. बताते चलें कि सदर थाना क्षेत्र के कोने बिनगड़ा गांव निवासी विशुनदेव सिंह की हत्या गत 12 मार्च को प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के द्वारा गोली मारकर कर दी गई थी.

लातेहार एसपी प्रशांत आनंद के गुप्त सूचना के आधार पर लातेहार पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता के नेतृत्व में रांची पुलिस के सहयोग से पुंदाग व अरगोड़ा थाना क्षेत्र में छापेमारी कर जेजेएमपी उग्रवादी संगठन के सुप्रीमो पप्पू लोहरा के भाई जुलेश्वर लोहरा, रविन्द्र लोहरा उर्फ संतोष लोहरा, अमित लोहरा व विजय मेहता को गिरफ्तार किया गया है.

advt

 

इसे ही पढ़ें :Big Bazaar के मालिक किशोर बियानी और फ्यूचर ग्रुप की संपत्तियां कुर्क करने का आदेश

 

एसपी ने बताया कि विशुनदेव सिंह कोने पिकेट के समीप धरधरी नदी में बन रहे पुल निर्माण में मुंशी का काम करता था. उग्रवादी पप्पू लोहरा अपने पसंद के ठेकेदार से पुल का काम करवाना चाहता था, परंतु विजय प्रसाद के द्वारा यह काम ले लिया गया. इसी बीच पुल निर्माण को लेकर विजय प्रसाद से लेवी की राशि को लेकर गाली गलौज हो गई.

उन्होंने बताया कि इसके अलावे पप्पू लोहरा आगामी पंचायत चुनाव में अपने पसंद के प्रत्याशी को उतारना चाहता था. परंतु विशुनदेव सिंह अपनी पत्नी को प्रत्याशी के रूप में खड़ा करने के लिए प्रचार प्रसार कर रहा था. विगत वर्ष पंचायत चुनाव में भी पप्पू लोहरा के कहने पर विशुनदेव ने मुखिया चुनाव से अपना नाम वापस ले लिया गया था. इन्ही सभी बातों को लेकर पप्पू लोहरा के द्वारा विशुनदेव की हत्या करा दी गई.

उन्होंने बताया कि घटना के दिन नरेश साव देशी पिस्टल लेकर विशुनदेव सिंह के पास पहुंचा और दोनों के बीच लेवी की राशि को लेकर झगड़ा हो गया. इसके बाद नरेश साव ने पप्पू लोहरा के भाई जुलेश्वर लोहरा को पिस्टल दे दिया और ये चारों लोग रांची रवाना हो गए.

 

ये सामग्री हुई बरामद :

 

उग्रवादियों के पास से पुलिस ने तीन चार पहिया वाहन, दो पहिया वाहन दो, अनेक बैंक के पासबुक, चेकबुक, एटीएम कार्ड, जमीन के संबंधित कागजात, पैसा व अभियुक्त नरेश साव के द्वारा दिया गया एक देशी पिस्टल, दो मैंगजीन व आठ जिदा गोली बरामद किया गया है.

 

इसे ही पढ़ें :झारखंड प्रशासनिक सेवा के 32 अधिकारियों का हुआ ट्रांसफर

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: