Bihar

नीतीश कुमार की टिप्पणी पर भड़के तेजस्वी, दी खुली बहस की चुनौती

Patna : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों पर टिप्पणी के बाद राजद नेता तेजस्वी यादव ने उन पर निशाना साधा है.

क्या थी नीतीश की टिप्पणी

गौरतलब है कि नीतीश कुमार ने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों पर निशाना साधते हुए कहा था कि जिन लोगों को राजनीति का ‘क ख ग घ’ भी नहीं आता है वे भी अगर उनके खिलाफ बोलते हैं तो मीडिया में उन्हें खूब जगह मिलती है.

ram janam hospital
Catalyst IAS

नीतीश की अध्यक्षता में जद (यू) की प्रदेश परिषद की बैठक हुई थी. बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने बिना किसी पार्टी या नेता का नाम लिए प्रतिद्वंद्वियों पर प्रहार करते हुए कहा कि कुछ नेता प्रचार पाने के लिए अक्सर उनपर निजी हमला करते हैं.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें- झारखंड की बदहाली के लिये जिम्मेदार कौन, भाजपा, झामुमो या कांग्रेस? अपने विचार लिखें —

तेजस्वी का पलटवार

इस पर, तेजस्वी यादव ने एक ट्वीट में कहा कि मुख्यमंत्री जी कहते है मुझे कुछ नहीं आता? ठीक है चाचा, कुछ नहीं आता फिर क्यों मुझे उपमुख्यमंत्री बनाया था? मेरे विभागीय कार्यों को देखकर क्यों बेचैनी होने लगी थी? अगर आपको नेता प्रतिपक्ष के प्रति ऐसी अशोभनीय टिप्पणी करने में मानसिक सुख प्राप्त होता है तो कृपया आप ऐसा प्रतिदिन करिए.

एक के बाद एक ट्वीट में यादव ने कहा कि नीतीश जी, मैं नेता प्रतिपक्ष हूं और आप मुख्यमंत्री. अगर आपके कुप्रबंधन, लूट और नाकामियों को जनता के समक्ष रखना आपको मेरा अज्ञान लगता है तो यह आपका अज्ञान है.

इसे भी पढ़ें- #MPSudarshanBhagat की CDPO पत्नी पर सब मेहरबान, तबादले के एक साल बाद भी पुरानी जगह ही जमीं

तेजस्वी ने कहा कि ससम्मान कहता हूं, जितनी मेरी उम्र है उससे ज्यादा आपका अनुभव, फिर भी आपकी पसंद के किसी भी विषय पर खुली बहस की विनम्र चुनौती देता हूं. माफ करिए चाचा जी, मेरी उम्र भले ही कम हो लेकिन आपकी तरह मैंने नीति, सिद्धांत और विचार का सौदा करना नहीं सीखा. आप 15 साल से मुख्यमंत्री है फिर भी आपमें अकेले चुनाव लड़ने का माद्दा नहीं है.

इसे भी पढ़ें- #JhrakhandCongress : #Loksabha की तरह #Vidhansabha में भी प्रभारी और सह-प्रभारी नहीं ले रहे रुचि!

तेजस्वी यादव ने ट्वीट में कहा कि आप विचार कीजिए क्या कमी है कि सदैव आपको बैसाखी की जरूरत होती है? इस पर भी जनता का ज्ञानवर्धन कीजिए.

Related Articles

Back to top button