BiharLead News

नीतीश कैबिनेट का फैसला, जेल में बंद कैदी समय से पहले होंगे रिहा

उच्च अधिकार प्राप्त समिति की सिफारिश पर 2 से 6 माह पूर्व रिहा करने किया जायेगा

Patna : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में बड़ा फैसला लिया गया है. बिहार की जेलों में क्षमता से अधिक कैदियों के होने और कोरोना महामारी को देखते हुए सजायाफ्ता कैदी को समय से पहले रिहा किया जाएगा. सजा अवधि के अनुसार उन्हें 2 से 6 माह पूर्व रिहा करने का निर्णय पिछले दिनों उच्च अधिकार प्राप्त समिति की अनुशंसा के बाद लिया गया.

शुक्रवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में इस पर मुहर लग गई.

इसे भी पढ़ें :साइबर क्राइम कैपिटल बनने की ओर रांची, जामताड़ा को भी पीछे छोड़ा

advt

स्थापित होंगे तीन नये विश्वविद्यालय

इसके साथ ही बिहार में 3 नये विश्वविद्यालय के जल्द स्थापित किए जाने का रास्ता भी साफ हो गया है. मेडिकल विश्वविद्यालय, इंजीनियरिंग विश्वविद्यालय और खेल विश्वविद्यालय विधेयक पर कैबिनेट ने शुक्रवार को मंजूरी दे दी है.

इसे भी पढ़ें :कर्नाटक के CM बीएस येदियुरप्पा की जल्द हो सकती है विदाई, जाने किसे मिल सकता है मौका

मानसून सत्र में इस विधेयक को पारित किया जाएगा.

26 जुलाई से शुरू हो रहे विधानमंडल के मानसून सत्र में इस विधेयक को पारित किया जाएगा. इसके बाद राज्यपाल की सहमति लेकर विश्वविद्यालय अधिनियम राज्य में लागू हो जाएगा.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में राज्य कैबिनेट की बैठक में डेढ़ दर्जन प्रस्तावों पर स्वीकृति दी गई है .

इसे भी पढ़ें :रोजगार के लिए अब तक सरकार नहीं बना सकी रोड मैप, भाजयुमो फोड़ रहा सरकार के ‘पापों का घड़ा’

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: