BiharLead News

नीतीश कैबिनेट ने किया फैसला- सरकारी कर्मचारियों के डीए में 25 फीसदी की बढ़ोतरी

Patna : बिहार सरकार ने शराब कानून पर बड़ा फैसला लिया है. बुधवार को नीतीश कैबिनेट की बैठक में 21 एजेंडों पर मुहर लगायी. इसमें शराब को लेकर बड़ा फैसला किया गया है. अब बिहार की सीमा से 24 घंटे में शराब की गाड़ी को पार करना होगा. यह तय चेक पोस्ट से ही जायेगा. बिहार की सीमा में प्रवेश करते ही चेक पोस्ट पर डिजिटल लॉक लगाया जायेगा.

जैसे ही गाड़ी राज्य की सीमा से बाहर जायेगी उसके बाद डिजिटल लॉक खुल जायेगा. किसी भी परिसर में शराब मिलने पर पूरा परिसर सील किया जायेगा. 24 घंटे के अंदर पूर्ण रूप से डीएम की निगरानी में सील किया जायेगा.

कैबिनेट ने पंचायत चुनाव से संबंधित प्रस्ताव को भी पास किया. इसमें पंचायत चुनाव में तकनीक का सहारा लेने का प्रस्ताव है. बूथों पर बायोमैट्रिक्स के साथ वेबकास्टिंग की व्यवस्था होगी.

advt

इसे भी पढ़ेंःNDA में महिलाओं के प्रवेश पर आया ‘सुप्रीम’ ऑर्डर, नवंबर में होने परीक्षा में बैठने की इजाजत दे केंद्र

इसके लिए BECIL बेंगलुरु सेवा देगी. चुनाव की लाइव वेब कास्टिंग की व्यव्स्था होगी. इसके अलावा मतदान और मतगणना का सीधा प्रसारण होगा.

adv

इसके अलावा मुंगेर खड़गपुर PHC की चिकित्सा पदाधिकारी अनामिका को सेवा से बर्खास्त करने के फैसले पर कैबिनेट की मुहर लग गयी.

अनुपुरीक्षित वेतनमान पानेवाले सरकारी सेवकों और पेंशनभोगियों के DA में 25 फीसदी की वृद्धि की गयी है. अब उन्हें 164 फीसदी के स्थान पर 189 फीसदी भत्ता मिलेगा.

इसे भी पढ़ेंःरघुवर ने राज्यपाल से की लातेहार डीसी को निलंबित करने की मांग, कहा- विधायक बंधु तिर्की की भूमिका भी संदिग्ध

इसका लाभ उन्हें 1 जुलाई से मिलेगा. अनुपुरीक्षित वेतनमान पाने वाले सरकारी सेवकों और पेंशन भोगियो को 356 फीसदी DA मिलेगा.

स्कूली बच्चों को साइकिल व पोषाक देने के नियमों में रियायत दी गयी है. अब 75 फीसदी उपस्थिति में भी योजना का लाभ मिल सकेगा. यह छूट कोविड 19 महामारी को लेकर दी गई है.

इसके अलावा स्कूलों में शारीरिक शिक्षक नियुक्त होंगे. इसके लिए 8386 शिक्षकों की नियुक्ति होगी. शारीरिक शिक्षकों के मानदेय में इजाफा भी किया गया है. मानदेय में 200 रुपये की वृद्धि की गयी है.

इसे भी पढ़ेंःभारत से ब्रिटेन की यात्रा करने वाले लोगों को राहत, ब्रिटेन ने दी ‘कोविशील्ड’ को मान्यता

कैलेंडर 2022 की मंजूरी

राज्य सरकार ने 20 दिनों की ऐच्छिक छुट्टी के प्रस्ताव को मंजूर कर लिया है. NIA यानी निगोसियेबुल इंस्ट्रूमेंट्स एक्ट 1881 के तहत 21 छुट्टी दी गयी है. 1 अप्रैल 2022 को बैंक बंदी रहेगी.

इसे भी पढ़ेंःसांसद ने केन्द्रीय खान सचिव से मिलकर की सुरदा व राखा कॉपर माइंस की लीज अवधि बढ़ाने की मांग

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: