JamshedpurJharkhand

NIT International Conference: अब निगरानी में होंगे ड्राइवर, सड़क दुर्घटना में आएगी कमी

Jamshedpur: एनआईटी जमशेदपुर में तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने किया. इस सत्र को उन्होंने आभासी माध्यम से सम्बोधित किया. गडकरी ने सेमिनार के दौरान सड़क परिवहन एवं राजमार्ग के कार्यो में कृत्रिम बुद्धिमत्ता (आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस) के उपयोग को रेखांकित किया. उन्होंने बताया कि कृत्रिम बुद्धिमत्ता का उपयोग करके ड्राइवर पर निगरानी रखने का यंत्र विकसित हो रहा है. प्रौद्योगिकी के प्रयोग से कैसे सड़क दुर्घटना को कम किया जा सकता है, यह चर्चा का मुख्य बिंदु रहा.

सड़क की सुरक्षा, सड़क की गुणवत्ता का आंकलन, गाड़ी के नंबर प्लेट क़ो स्वचालित रूप से डिटेक्ट करके चालान सीधे गाड़ी मालिक के मोबाइल पर भेजने जैसे यंत्रों का विकास मशीन लर्निंग एवं कृत्रिम बुद्धिमत्ता के प्रयोग से हो रहा है. उन्होंने नागपुर और गाजियाबाद में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में इन यंत्रों के आंशिक प्रयोग के बारे में चर्चा की. सड़क परिवहन मंत्री ने अपने सम्बोधन के माध्यम से देश-विदेश के समस्त वैज्ञानिकों, इंजीनियरों, विद्यार्थियों को इस क्षेत्र में उपलब्ध अवसरों के उपयोग के लिए आह्वान किया. इस सम्मेलन में अध्यक्षीय भाषण संस्थान के निदेशक प्रो.करुणेश कुमार शुक्ल ने दिया. उन्होंने कंप्यूटर विज़न के साथ मशीने लर्निंग एवं आर्टिफिशिययल इंटेलीजेंस के मानव जीवन में हो रहे प्रयोग पर प्रकाश डाला. सम्मेलन के अगले सत्र क़ो प्रौद्योगिक यूनिवर्सिटी क्रीट, ग्रीस के प्रोफेसर जेरवाकिस एवं डॉ. अन्टोनाककिस मरिओस ने सयुक्त रूप से संबोधित किया. उन्होंने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के माध्यम से ब्रेस्ट एवं ब्रेन ट्यूमर डिटेक्शन कैसे किया जा सकता है, इस बारे में बताया.

ये भी पढ़ें-CII JHARKHAND: जानिए कौन बना झारखंड सीआईआई का अध्यक्ष, टाटा मोटर्स के प्‍लांट हेड को क्‍या मि‍ली जि‍म्‍मेदारी

Related Articles

Back to top button