NationalUttar-Pradesh

बलिया CMO की बदसलूकी के बाद धरने पर बैठे #Nirbhaya के परिजन, निलंबन की मांग

विज्ञापन

Baliya: निर्भया के विरुद्ध कथित तौर पर बेतुकी टिप्पणी करने वाले बलिया के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) को निलंबित करने की मांग की गयी है.

यह मांग निर्भया के परिजनों ने की है. वहीं इसे लेकर परिजन गुरूवार को धरने पर बैठ गये हैं. जिसके बाद इस मामले में जांच के आदेश दिये गये हैं.

advt

इसे भी पढ़ें- #Pulse अस्पताल के निर्माण की होगी जांच, हेमंत सोरेन ने रांची डीसी को दिया आदेश

CMO की टिप्पणी आपत्तिजनक व शर्मसार: परिवार

निर्भया के दादा ने अधिकारी का निलंबन नहीं होने पर आत्मदाह करने की घोषणा की है. सीएमओ डॉ प्रीतम मिश्र की टिप्पणी से क्षुब्ध व नाराज निर्भया के परिजनों ने पैतृक गांव मेड़वार कला में धरना शुरू कर दिया.

निर्भया के दादा लालजी सिंह ने कहा कि यदि योगी सरकार ने सीएमओ को तत्काल निलंबित नहीं किया तो वह आत्मदाह करेंगे. उन्होंने सीएमओ की टिप्पणी को अत्यंत आपत्तिजनक व शर्मसार करने वाला बताया.

adv

इसे भी पढ़ें- गुजरात मॉडल बनाम दिल्ली मॉडल: बिहार और बंगाल के चुनावों में कौन रहेगा हावी- दिखने लगा है

क्या है मामला

उल्लेखनीय है कि सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में सीएमओ का निर्भया को लेकर बेतुका बयान सामने आया है. वीडियो में सीएमओ यह बोलते दिखाई दे रहे हैं कि निर्भया दिल्ली क्यों गयी.

वीडियो में उनका यह भी कहना था कि निर्भया के गांव में किसी ने भी डॉक्टरी की पढ़ाई नहीं की और यहां के लोगों को डॉक्टर चाहिए. उन्होंने कहा कि पहले डॉक्टर की पढ़ाई करें फिर इसी अस्पताल में डॉक्टर बन जाएं.

इस गांव में डॉक्टर तो बनाया नहीं तो अस्पताल क्यों खुलवाया. हम कहां से डॉक्टर लाएं, जितने पद हैं उतने डॉक्टर हैं नहीं. जिलाधिकारी हरि प्रताप शाही ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं. 

गौरतलब है कि सरकार ने निर्भया के पैतृक गांव मड़ावरा कला में निर्भया के नाम पर अस्पताल बनवाया था, ताकि निर्भया का सपना पूरा हो सके. निर्भया दिल्ली में रहकर डॉक्टर की पढ़ाई कर रही थी. उसका सपना था कि वह डॉक्टर बनकर अपने गांव में आये और यहां के लोगों की सेवा करे ताकि लोगों को इलाज के लिए गांव से बाहर न जाना पड़े.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close