न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#NirbhayaCase में आरोपियों के वकील को मुहैया कराये गये हैं सभी दस्तावेज: प्रॉसिक्यूटर

836

New Delhi: दिल्ली पुलिस ने शनिवार को दिल्ली की एक अदालत को बताया कि तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने 2012 के निर्भया गैंगरेप और हत्या मामले में मौत की सजा पाये दोषियों के वकील द्वारा मांगे सभी संबंधित दस्तावेज मुहैया करा दिए हैं.

पुलिस की ओर पेश हुए पब्लिक प्रॉसिक्यूटर ने अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अजय कुमार जैन को बताया कि दोषी केवल ‘‘विलंब करने की तरकीब’’ अपना रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- तीन दिनों की रिमांड में गैंगस्टर सुजीत सिन्हा ने खोले कई राज

क्या है आरोप

मामले में चार दोषियों में से तीन की ओर से पेश हुए वकील ने शुक्रवार को अदालत का रुख करते हुए आरोप लगाया कि तिहाड़ जेल के अधिकारी कुछ दस्तावेज नहीं दे रहे हैं और इसी वजह से उन्हें दया और सुधारात्मक याचिकाएं दायर करने में देरी हो रही है.

ए. पी. सिंह ने आरोप लगाया कि जेल अधिकारियों ने अभी वे दस्तावेज नहीं दिये हैं जो विनय कुमार शर्मा (26) के लिए दया याचिका और अक्षय कुमार सिंह (31) और पवन सिंह (25) के लिए सुधारात्मक याचिकाएं दायर करने के लिए आवश्यक हैं.

इसे भी पढ़ें- #LIC में निवेश पर बढ़ रहा जोखिम, पांच सालों में दोगुना हुआ एनपीए

क्या है मामला

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में दो अन्य दोषियों विनय और मुकेश सिंह (32) की सुधारात्मक याचिकाएं खारिज कर दी थीं. राष्ट्रपति ने इस महीने की शुरुआत में मुकेश की दया याचिका खारिज कर दी थी.

याद दिला दें कि 16 दिसंबर, 2012 को निर्भया अपने दोस्त के साथ फिल्म देखकर घर लौट रही थी. दोनों पश्चिम दिल्ली के पास एक प्राइवेट बस में सवार हुए. बस में 6 लोग मौजूद थे.

जिन्होंने चलती बस में निर्भया से गैंगरेप किया और हैवानियत की हर हद को पार कर दिया. निर्भया ने अस्पताल में कई दिनों तक मौत से जंग लड़ी लेकिन 29 दिसंबर को वह जिंदगी की जंग हार गयी.

इस घटना में छह लोग शामिल थे. जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार किया था. इस मामले में एक आरोपी पहले ही नाबालिग होने की वजह से बरी हो चुका है. जबकि एक अन्य ने जेल में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. अब चार आरोपियों को एक फरवरी को फांसी दी जानी है.

इसे भी पढ़ें- पुलवामा में गणतंत्र दिवस से पहले जैश आतंकियों के साथ सुरक्षाबलों की मुठभेड़, तीन को सेना ने घेरा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like