Khas-KhabarNational

#NirbhayaCase: डेथ वारंट के बाद दोषी पवन पहुंचा SC, किया नाबालिग होने का दावा

विज्ञापन

NewDelhi: निर्भया गैंगरेप मामले में दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों दोषियों को डेथ वारंट जारी किया है. डेथ वारंट जारी होने के बाद चारों दोषियों में पवन कुमार गुप्ता सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. उसने खुद के नाबालिग होने का दावा किया है.

इसे भी पढ़ें- #NirbhayaCase: फांसी में देरी पर उठते सवाल पर बोले केजरीवाल-निर्भया की मां को किया जा रहा गुमराह

क्या है याचिका में

पवन ने दिल्ली हाइकोर्ट के उस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है, जिसमें उसको नाबालिग मानने से इनकार कर दिया गया था. गौरतलब है कि एडवोकेट ए. पी. सिंह के जरिये सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अपील में पवन ने खुद के नाबालिग होने की दलील दी है.

advt
निर्भया गैंगरेप मामले में दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों दोषियों को डेथ वारंट जारी किया है. पहले इन्हें 22 जनवरी को फांसी दी जानी थी लेकिन अब तारिख को बढ़ा दिया गया है और अब इन्हें एक फरवरी को फांसी दी जायेगी. डेथ वारंट जारी होने के बाद इनमें से दोषी पवन कुमार गुप्ता ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर खुद को घटना के वक्त नाबालिग बताया है. पवन का कहना है कि उसे एक फरवरी को फांसी नहीं दी जाए क्योंकि वह उस वक्त नाबालिग था जब यह घटना घटी थी.

दोषी पवन ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा है कि 16 दिसंबर 2012 को जब निर्भया के साथ गैंगरेप हुआ, उस समय वह नाबालिग था. साथ ही उसने कोर्ट से यह भी अफील की है कि तिहाड़ जेल प्रशासन को इस बारे में निर्देश जारी किया जाए, ताकि एक फरवरी को उसे फांसी न दी जाए.

इसे भी पढ़ें- IAS TRANSFER: प्रवीण टोप्पो को 4 विभाग, सुनील कुमार योजना वित्त सचिव, प्रशांत कुमार को ग्रामीण विकास पंचायती राज का जिम्मा

22 जनवरी नहीं एक फरवरी को होने है फांसी

उल्लेखनीय है कि निर्भया गैंगरेप मामले में पटियाला हाउस कोर्ट ने नयी तारीख की घोषणा की है. कोर्ट ने सभी चारों दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी किया है. नये डेथ वारंट के अनुसार अब 22 जनवरी की जगह सभी दोषियों को एक फरवरी सुबह छह बजे फांसी की सजा दी जायेगी.

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सतीश कुमार अरोड़ा मामले के दोषी मुकेश कुमार सिंह की याचिका पर सुनवाई कर रहे थे, जिसमें फांसी की तारीख 22 जनवरी से टालने की मांग की गयी थी.

adv

इससे पूर्व तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने दिल्ली की अदालत से निर्भया मामले के चारों दोषियों के खिलाफ मौत की सजा पर फिर से डेथ वॉरंट जारी करने की मांग की थी.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button