National

NirbhayaCase: दिल्ली हाइकोर्ट में दोषियों की एक और याचिका खारिज, सुबह साढ़े पांच बजे फांसी तय

Ranchi: अब से कुछ ही घंटों बाद शुक्रवार सुबह 5:30 बजे निर्भया के दोषियों को फांसी देना तय हो गया है. दिल्ली की अदालत ने सभी दोषियों की फांसी पर रोक लगाने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी है.

Jharkhand Rai

इस बीच फांसी पर रोक लगाने की एक और याचिका पर दिल्ली हाइकोर्ट में लगायी गयी जिसे देर रात सुनवाई के बाद कोर्ट ने खारिज कर दिया. हालांकि दोषियों के पास अभी भी कुछ देर सुप्रीम कोर्ट जाने के विकल्प बचा है.

इसे भी पढ़ें : #DVC अभियंता के आवास पर जबरन कब्जे के मामले ने पकड़ा तुल, थाने को आवेदन, उत्पादन ठप करने की चेतावनी

तलाक की याचिका अप्रासंगिक  

याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने दोषियों के वकील को ठोस दलीलें देने को कहा. कोर्ट ने दोषी अक्षय सिंह की पत्नी तलाक की याचिका को अप्रसांगिक करार दिया.

Samford

हाइकोर्ट ने निर्भया के दोषियों के वकील एपी सिंह से कहा कि समय बीत रहा है, ज्यादा समय नहीं. आपके क्लायंट का भगवान से मिलने का समय नजदीक है.

अगर आप आखिरी समय में महत्वपूर्ण बातें नहीं कहेंगे तो हम आपकी मदद नहीं कर पायेंगे. आपके पास केवल 4-5 घंटे हैं. अगर कुछ दलील है तो वो दें.

इसे भी पढ़ें : #Corona: कार्मिक सचिव की सलाह, बिना जरूरी काम के सरकारी कार्यालय में आने पर रोक, अनुमति लेने पर ही मिलेंगे अधिकारी

पाकिस्तान बॉर्डर पर भेज दें, लेकिन फांसी नहीं दें

इससे पहले दिन में दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा था कि राजनीति के लिए इनकी जिंदगी का इस्तेमाल हो रहा है, एपी सिंह ने कहा कि इनकी जिंदगी का इस्तेमाल कीजिये, इन्हें पाकिस्तान बॉर्डर पर भेज दीजिये, चीन भेज दीजिये, लेकिन इनकी जिंदगी मत लीजिये.

एपी सिंह कहा कि क्या था कि इन्हें फांसी पर चढ़ा देने से रेप कम हो जायेगा. उन्होंने कहा कि 6 महीने बाद सभी लोग इस केस को भूल जाएंगे, लेकिन ये परिवार बर्बाद हो जायेगा.

एपी सिंह ने कहा कि इन्हें जेल में रहने दीजिये, मेडिकल ट्रायल के लिए इनका इस्तेमाल कीजिये, लेकिन फांसी नहीं दीजिये.

इसे भी पढ़ें : पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति के पूरे राज्य से 136690 आवेदन हुए रद्द

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: