National

#NirbhayaCase: एक फरवरी को फांसी पर रोक लगाने के लिए दोषियों के वकील पहुंचे कोर्ट

New Delhi: निर्भया गैंगरेप और हत्या के मामले में मौत की सजा का सामना कर रहे दोषियों के वकील ने, एक फरवरी को तय उनकी फांसी को टालने की मांग के साथ गुरुवार को दिल्ली की अदालत का रुख किया.

वकील का कहना है कि कुछ दोषियों ने अभी कानूनी विकल्पों का इस्तेमाल नहीं किया है. यह याचिका विशेष न्यायाधीश ए के जैन के सामने आई जिन्होंने कहा कि इस पर दोपहर बाद सुनवाई होगी.

इसे भी पढ़ें- #EconomySlowdown को लेकर कांग्रेस का वार, कहा- देश आर्थिक बर्बादी के कगार पर, अब जाग जाएं PM

मुकेश की याचिका खारिज

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट इस मामले में मौत की सजा पाये एक अन्य दोषी मुकेश कुमार सिंह की एक अलग याचिका पर 29 जनवरी को सुबह साढ़े 10 बजे फैसला सुनाया. मुकेश की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है.

इस मामले में कोर्ट का कहना है कि ऐसे कोई भी सबूत नहीं है कि प्रासंगिक दस्तावेज राष्ट्रपति के सामने नहीं रखे गये थे. गौरतलब है कि मुकेश ने अपनी दया याचिका खारिज करने के खिलाफ अर्जी दाखिल की थी.

इसे भी पढ़ें- मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड  ने SC में कहा- मस्जिदों में महिलाओं के नमाज पढ़ने की है अनुमति

क्या है मामला

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में दो अन्य दोषियों विनय और मुकेश सिंह (32) की सुधारात्मक याचिकाएं खारिज कर दी थीं. राष्ट्रपति ने इस महीने की शुरुआत में मुकेश की दया याचिका खारिज कर दी थी.

adv

याद दिला दें कि 16 दिसंबर, 2012 को निर्भया अपने दोस्त के साथ फिल्म देखकर घर लौट रही थी. दोनों पश्चिम दिल्ली के पास एक प्राइवेट बस में सवार हुए. बस में 6 लोग मौजूद थे.

जिन्होंने चलती बस में निर्भया से गैंगरेप किया और हैवानियत की हर हद को पार कर दिया. निर्भया ने अस्पताल में कई दिनों तक मौत से जंग लड़ी लेकिन 29 दिसंबर को वह जिंदगी की जंग हार गयी.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: