National

#Nirbhaya_Case :  दिल्ली पटियाला कोर्ट ने नया डेथ वारंट जारी किया, दरिंदों को 20 मार्च को फांसी, निर्भया की मां ने खुशी जताई

विज्ञापन

NewDelhi : निर्भया केस के दोषियों की फांसी की नयी तारीख 20 मार्च निर्धारित की गयी है. जान लें कि दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों दोषियों की फांसी के लिए 20 मार्च की तिथि तय कर दी है. निर्भया के दोषियों की फांसी के लिए यह अंतिम तिथि है. चारों दोषियों पवन गुप्‍ता, अक्षय ठाकुर, विनय शर्मा, मुकेश को 20 मार्च को सुबह 5.30 बजे फांसी दी जायेगी. कोर्ट के नियमों के अनुसार सभी दोषी अपने वकीलों से मिल सकेंगे.

दोषियों के वकील एपी सिंह ने इस ताजा डेथ वारंट पर कहा कि चार बार दोषियों की न्‍यायिक हत्‍या की जा चुकी है. कितनी बार दोषियों की न्‍यायिक हत्‍या की जायेगी. कहा कि सीआरपीसी कहती है कि एक बार से अधिक हत्‍या नहीं जा सकती है. उन्‍होंने कहा कि राज्‍य की ओर से प्रायोजित हत्‍या नहीं की जा सकती है. एपी सिंह ने कहा कि ये आतंकवादी नहीं हैं और जेल में रहकर अपना सुधार कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि अभी कानूनी विकल्‍प बचा हुआ है. उन्‍होंने कहा कि हमें डराया जा रहा है, मुझे प्रताड़ित किया जा रहा है.

advt

इसे भी पढ़ें :  #PF पर ब्याज दर घटा कर की गयी 8.5 फीसदी, पहले थी 8.65 प्रतिशत, छह करोड़ कर्मचारियों पर असर

अब इन दोषियों को राहत नहीं मिलेगी

निर्भया की मां आशा देवी ने कोर्ट के आदेश पर खुशी जताई है. उन्‍होंने कहा कि अभी ये दोषी फांसी को टालने के लिए कोई और पैतरा अपना सकते हैं. हर चीज का एक अंत होता है और फाइनली उन्‍हें नयी तारीख  पर फांसी दी जायेगी. जब तक दोषियों को फांसी नहीं हो जाती मैं हार नहीं मानूंगी. हर पल मैं लड़ने के लिए तैयार हूं. अब इन दोषियों को राहत नहीं मिलेगी. मेरी जीत उस दिन होगी जब ये चारों दोषी फांसी पर लटक जायेंगे.

इसे भी पढ़ें :  #RBI को तीसरा झटकाः डिप्टी गवर्नर एन एस विश्वनाथन का इस्तीफा, तीन महीने पहले छोड़ा पद

adv

अब कोई विकल्प नहीं

कानूनी विशेषज्ञों के अनुसार अब दोषियों के पास फांसी से बचने के लिए अब कोई विकल्प नहीं बचा. इससे पहले दिल्ली सरकार बिना वक्त गंवाये बुधवार को ही अपनी अर्जी लेकर अदालत पहुंची थी और निर्भया मामले में चारों दोषियों की फांसी की नयी तारीख तय करने का अनुरोध किया था.

तिहाड़ में फांसी की तैयारी पूरी

निर्भया गैंगरेप के चार दोषियों में शामिल पवन गुप्ता की भी दया याचिका राष्ट्रपति के पास से खारिज होने के बाद अब तिहाड़ जेल प्रशासन उन्हें फांसी पर लटकाने के लिए पूरी तरह से तैयार है.  बटर लगी 10 रस्सी तिहाड़ की जेल नंबर-3 में सुरक्षित रखवा दी गयी हैं. इन रस्सियों पर ट्रायल भी किया जा चुका है.

इस बीच दोषियों की निगरानी और अधिक बढ़ा दी गयी है.  यह निगरानी केवल इसलिए बढ़ाई जाती है कि कहीं इन चारों में से कोई एक या चारों कानूनी रूप से फांसी पर लटकाने से पहले अपने आप आत्महत्या न कर लें या फिर जेल से भागने की कोशिश न करें.

इसे भी पढ़ें :   #Corona_Virus :  डॉ हर्षवर्धन ने राज्यसभा में बताया,  28,529 लोगों पर है नजर,  पूरी तैयारी है…

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close