न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पुटकी बलिहारी परियोजना के गहरे खदान में भरने लगा था पानी, बाल-बाल बचे नौ मजदूर

734

Dhanbad : बीसीसीएल की पुटकी बलिहारी परियोजना में रविवार को एक बड़ी दुर्घटना होने से बच गयी. बताया जाता है कि सुबह आठ कोयला कर्मी अपने माइनिंंग सरदार के साथ सैकड़ों फीट गहरी खदान में घुसे थे.

लेकिन खदान में अचानक पानी भरने लगा. मजदूरों ने मामले की सूचना कोलियरी के वरीय अधिकारी को दी. अधिकारियों ने आनन – फानन में रेसक्यू शुरू किया और सभी नौ मजदूरों को बाहर निकाल लिया गया.

Trade Friends

घटना की जानकारी देते हुए मजदूरों ने बताया कि वे लोग सुबह लगभग छह बजे सैकड़ों फीट गहरी खदान में माइनिंग करने के लिए उतरे थे. लेकिन खदान में उतरते ही उन्हें एक अजीब सी आवाज सुनाई दी.

वे इस आवाज से कुछ समझ पाते, इससे पहले ही कोयले की दीवार तेज आवाज के साथ गिरी और खदान में पानी भरने लगा. देखते ही देखते सभी मजदूर पानी में डूबने लगे.

लेकिन कोयला कर्मी और माइनिंग सरदार ने सूझ-बूझ का परिचय देते हुए खदान के अंदर एक ऊंची जगह की तलाश की और अपने वरीय अधिकारियों से संपर्क साधा.

इसे भी पढ़ें- रांची: प्रतिबंधित संगठन #Al-Qaeda का मोस्ट वांटेड आतंकी कलीमउद्दीन गिरफ्तार, DGP ने टीम को दी बधाई

हमारे बचने की उम्मीद कम है, आप बचा सकते हैं तो बचा लें

खदान के अंदर पानी में फंसे मजदूरों ने अपने अधिकारियों से संपर्क कर कहा कि सर हमारे बचने की उम्मीद कम है, आप बचा सकते हैं तो बचा लें.

WH MART 1

इस खबर के बाद पुटकी बलिहारी परियोजना में हड़कंप मच गया. अधिकारियों ने फौरन रेस्क्यू शुरू किया. करीब ढाई घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद सभी मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया.

इसे भी पढ़ें- #Smartphone: ऐलान तो कर दिया, लेकिन क्या वाकई यह सरकार देना चाहती है आंगनबाड़ी सेविकाओं को स्मार्टफोन!

यूनियन नेताओं ने की निष्पक्ष जांच की मांग

फिलहाल उस खदान के अंदर की स्थिति का जायजा लिया जा रहा है. जानकारी मिल रही है कि अब उस कोयले की खदान के अंदर पानी का बहाव धीरे-धीरे कम हो रहा है.

एरिया के मैनेजर भीके गोयल ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है. यह घटना क्यों और कैसे हुई इसकी जानकारी जांच के बाद ही मिल पायेगी.

वहीं मजदूर यूनियन के नेताओं ने कोयला अधिकारियों पर सुरक्षा में लापरवाही बरतने का आरोप लगाकर मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like