न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

 एनआईए ने दिल्ली-यूपी में 16 जगहों पर एक साथ मारा छापा, IS के नये मॉड्यूल का खुलासा, 10 गिरफ्तार

राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए) ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के नये मॉड्यूल के खुलासा किया है. खबरों के अनुसार एनआईए ने दिल्ली और यूपी में 16 जगहों पर एक साथ छापे मारे हैं

1,276

NewDelhi : राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए) ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के नये मॉड्यूल के खुलासा किया है. खबरों के अनुसार एनआईए ने दिल्ली और यूपी में 16 जगहों पर एक साथ छापे मारे हैं.  यूपी एटीएस ने जानकारी दी है कि छापे के बाद दस आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. इमें मौलवी से लेकर इंजीनियर तक शामिल हैं. इनके पास से विस्फोटक भी बरामद किये जाने का दावा किया जा रहा है. माना जा रहा है कि ये आत्मघाती हमले की फिराक में थे. सूत्रों की मानें तो आगे कई बड़ी गिरफ्तारियां हो सकती हैं.  रिपोर्ट के अनुसार ये सभी किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की साजिश में जुटे थे.  मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एनआईए ने मंगलवार को दिल्ली के जाफराबाद और यूपी के अमरोहा में 16 ठिकानों पर छापा मारा. बताया जा रहा है कि स्पेशल सेल के 100 से ज्यादा लोग छापेमारी में शामिल हैं.

मॉड्यूल हरकत-उल-हर्ब-इस्लाम के खुलासे का दावा

एनआईए और एटीएस की संयुक्त कार्रवाई के तहत छापेमारी की गयी.  बता दें कि छापेमारी में आईएसआईएस के नये मॉड्यूल हरकत-उल-हर्ब-इस्लाम के खुलासे का दावा किया गया है.  बताया जा रहा है कि अमरोहा के सैदपुर इम्मा गांव में एक ठिकाने पर छापा मारा गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एनआईए शाम में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस छापेमारी की जानकारी देगी. एनआईए, उत्तर प्रदेश एटीएस और दिल्ली पुलिस संयुक्त रूप से छापेमारी अभियान चला रही हैं. बता दें कि इससे पहले भी कई बार अलर्ट और इनपुट के आधार पर उत्तर प्रदेश एटीएस राज्य के कई शहरों में छापेमारी कर चुकी है.

वॉट्सऐप और टेलिग्राम पर करते थे बात

एनआइए के मुताबिक, ये संदिग्ध वॉट्सऐप और टेलिग्राम पर एक-दूसरे से बात करते थे. 3 से 4 महीने पहले ही यह मॉड्यूल शुरू हुआ था. 100 से ज्यादा मोबाइल फोन भी बरामद हुए हैं. 135 सिम कार्ड्स, कई लैपटॉप और मेमोरी भी बरामद हुए हैं. एनआइए ने बताया कि हमारे पास जो इनपुट्स हैं, उसके मुताबिक रिमोट कंट्रोल बम और फिदायीन हमलों में इनका मुख्य फोकस था. इसके लिए ये लोग बुलेट प्रूफ जैकेट्स बनाने में भी जुटे थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: