न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अगले कुछ हफ्तों में बड़ा बम गिराने वाला है राफेल : राहुल

हाल ही में रिलायंस समूह के चेयरमैन अनिल अंबानी ने राफेल विवाद पर अपना पक्ष रखते हुए राहुल गांधी को एक पत्र लिखा था

192

Delhi: शुक्रवार 31 अगस्त को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर फिर निशाना साधा और कहा कि यह विश्वव्यापी भ्रष्टाचार है और आने वाले कुछ हफ़्तों में राफेल कुछ बड़े बम गिराने वाला है.

mi banner add

गांधी ने एक खबर साझा करते हुए ट्वीट किया, यह विश्वव्यापी भ्रष्टाचार है. यह राफेल विमान वास्तव में दूर तक और तेज तक उड़ता है ! यह आने वाले कुछ हफ्तों में कुछ बड़े बंकर भेदी बम भी गिराने वाला है.

इसे भी पढ़ेंःअब आतंकियों के निशाने पर पुलिसकर्मियों के परिजन ! पांच लोगों को किया अगवा

फ्रांस में एक बड़ी समस्या है

राहुल ने आगे कहा कि मोदी जी कृपया अनिल (अंबानी) को बताएं कि फ्रांस में एक बड़ी समस्या है. गांधी ने जिस खबर को शेयर किया है. उसमें कहा गया है कि जब राफेल को लेकर दोनों देशों के बीच बातचीत चल रही थी. तब अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस एंटरनमेंट ने तत्कालीन फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांस्वा अलोंद की पार्टनर को फिल्म निर्माण में सहयोग किया था.

इसे भी पढ़ें- बोकारो डीसी ने नियम विरुद्ध जाकर दी बियाडा की जमीन, उद्योग निदेशक ने खारिज किया आदेश, कहा –…

Related Posts

कर्नाटक : सियासी ड्रामा जारी, फ्लोर टेस्ट अटका,  विधानसभा शुक्रवार तक के लिए स्थगित ,भाजपा  धरने पर

भाजपा अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि वे विश्वास मत पर फैसले तक सदन में रहेंगे.  हम सब यहीं सोयेंगे.

अनिल अंबानी ने राहुल को लिखा था पत्र

हाल ही में रिलायंस समूह के चेयरमैन अनिल अंबानी ने राफेल विवाद पर अपना पक्ष रखते हुए राहुल गांधी को एक पत्र लिखा था. खबरों के अनुसार फ्रांस के साथ राफेल वार प्लेन की डील पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने लिखे पत्र में कहा है कि उनके प्रति दुर्भावना रखने वाले कुछ निहित स्वार्थी तत्व और कॉर्पोरेट प्रतिद्वंद्वि इस डील पर कांग्रेस को गलत और भटकाने वाली जानकारी मुहैया करा रहे हैं. बता दें कि इससे पूर्व अनिल अंबानी ने दिसंबर में भी राफेल विवाद पर गांधी को पत्र लिखा था.

इसे भी पढ़ें- धनबाद में शुरू होगी IPPB सुविधा, PM मोदी करेंगे ऑनलाइन उद्घाटन

रिलायंस समूह द्वारा जारी किए गए एक बयान के अनुसार अंबानी के पत्र में कहा गया है कि भारत 36 राफेल जेट विमान फ्रांस से खरीद रहा है, उन विमानों के एक रुपये मूल्य के एक भी कलपुर्जे का विनिर्माण  रिलायंस समूह समूह द्वारा नहीं किया जायेगा. पत्र लिख्नने का कारण राहुल गांधी द्वारा इस मुद्दे पर लगातार सरकार और अंबानी को घेरा जाना है.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: