JharkhandMain SliderRanchi

NewsWing की खबर पर हुई जांच, DK पांडेय की पत्नी की जमीन की रजिस्ट्री गलत, रद्द होगी जमाबंदी

विज्ञापन

Ranchi : न्यूज विंग की खबर एक बार फिर सच निकली. न्यूज विंग की खबर पर हुई जांच के बाद यह तथ्य सच पाया गया कि पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय ने जो जमीन खरीदी है, वह गैर मजरुआ नेचर की है. उसकी खरीद-बिक्री नहीं हो सकती. पूनम पांडेय द्वारा खरीदी गयी 50.9 डिसमिल जमीन की जमाबंदी रद्द की जायेगी. इसकी पुष्टि रांची के डीसी राय महिमापत रे ने की है.

इसे भी पढ़ें- डीजीपी डीके पांडेय ने पत्नी के नाम पर खरीदी 51 डिसमिल जीएम लैंड!

29 मई को (नीचे देखें खबर का लिंक और स्क्रिन शॉट) न्यूज विंग ने सबसे पहले इस सिलसिले में खबरें प्रकाशित की थी. इसके बाद लगातार चार जून तक इससे जुड़ी खबरें न्यूज विंग ने किस्तवार प्रकाशित की. तब तक मेन स्ट्रीम मीडिया (स्थानीय दैनिक अखबारों) ने चुप्पी साधे रखी.

इसे भी पढ़ें- Police Housing Colony: पूर्व DGP डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय की जमीन की CBI जांच को लेकर PIL

यह अलग बात है कि नैतिकता को ताक पर रख कर रांची से प्रकाशित दो अखबार अब इस गड़बड़ी का श्रेय लेने की होड़ में लगे हुए हैं. नैतिकता का तकाजा तो यह था कि ये दोनों अखबार इस बड़े खुलासे का क्रेडिट न्यूज विंग को देते.

इसे भी पढ़ें- डीजीपी की पत्नी ने ली जमीन तो खुल गया टीओपी और ट्रैफिक पोस्ट, हो रहा पुलिस के नाम व साइन बोर्ड का…

उल्लेखनीय है कि पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय ने 38.91 लाख रुपये में कांके अंचल के चामा मौजा के खाता संख्या-87 में 51.09 डिसमिल जमीन खरीदी. यह गैर मजरुआ जमीन है. जिसकी खरीद-बिक्री नहीं हो सकती.

इसे भी पढ़ें- Police Housing Colony: सरकारी लैंड बैंक में है पूर्व DGP डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडये की जमीन

न्यूज विंग द्वारा खबरें प्रकाशित करने के बाद रांची के डीसी ने मामले की जांच के आदेश दिये. जांच के लिये कमेटी का गठन किया. कमेटी ने अपनी रिपोर्ट दे दी है. जिसमें इस बात की पुष्टि हुई है कि जिस जमीन को डीजीपी की पत्नी ने खरीदी है और उस पर आलीशान मकान बनवाया है, उस जमीन की खरीद-बिक्री नहीं हो सकती.

इसे भी पढ़ें- NEWS WING IMPACT: DC रांची ने बनायी पूर्व DGP डीके पांडेय की पत्नी की जमीन जांचने के लिए कमेटी,…

जांच में इस बात की भी पुष्टि हुई है कि गैर मजरुआ जमीन की रजिस्ट्री गलत तरीके से की गयी है. जांच रिपोर्ट के साथ कमेटी ने अनुशंसा की है कि जमीन की जमाबंदी भी रद्द की जायेगी. साथ ही जो मकान बनाया गया है, उसे अतिक्रमण माना जायेगा.

इसे भी पढ़ें- Police Housing Colony: DGP डीके पांडे की पत्नी ने पहले करायी फर्जी तरीके से जमीन की रजिस्ट्री फिर…

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close