न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

NewsWing Impact: दिव्यांग परिवार के जमीन की हुई दखल दिहानी, सीएम ने डीसी को दिया था आदेश

2012 से परेशाना था दिव्यांग परिवार, 2016 से शुरू हुई कार्रवाई

789
  • जांच कर आठ एकड़ जमीन दी गयी, सीओ ने कहा- बची हुई जमीन का जल्द होगी दखल दिहानी

Ranchi: पिछले दिनों न्यूज विंग में अनगड़ा प्रखंड के महेशपुर मौजा में दिव्यांग परिवार की जमीन पर दबंगों के अवैध कब्जे का मामला प्रकाशित किया गया था.

खबर प्रकाशित होने के बाद मुख्यमंत्री ने 23 जनवरी को इसे ट्वीट किया. ट्वीट में रांची डीसी को दिव्यांग परिवार को उनका हक दिलाने की बात की गयी थी.

अंचल अधिकारी ने दखल दिहानी के मामले में कार्रवाई की जिसके बाद पीड़ित परिवार को जमीन वापस की गयी.

दिव्यांग मोहरी मुंडा पति संजय मुंडा की 12.95 एकड़ जमीन हड़प ली गयी थी. इसके पूर्व न्यायालय, उप समाहर्ता की ओर से भूमि वापसी के दो बार आदेश दिये जाने के बावजूद दिव्यांग परिवार का खुद की जमीन पर कब्जा नहीं हो पाया था.

इतना ही नहीं, न्यायालय उप समाहर्ता सोनिया मुंडा वादी बनाम सुराब खं बगैरह प्रतिवाद के मामले में 25.10.2019 को पारित आदेश में कहा गया था कि खतियानी रैयत के वैध वारिसों को दखल कब्जा दिलाया जाये.

Whmart 3/3 – 2/4

इसे भी पढ़ें : रघुवर सरकार में हटाये गये 155 सुरक्षाकर्मियों को फिर से बहाल करने का स्वास्थ्य मंत्री ने दिया आश्वासन

क्या है मामला

पीड़ित परिवार के मुताबिक जमीन कारोबारी और दलाल 2012 से उनकी जमीन पर कब्जा करने का प्रयास कर रहे थे. 2016 में इसकी शिकायत मुख्यमंत्री जनसंवाद में की गयी और मामले को उप समाहर्ता के पास भेजा गया.

जांच के बाद न्यायालय की ओर से जमीन वापसी का आदेश 12 फरवरी 2018 को दिया गया. इसके विरोध में अवैध कब्जाधारियों को अंचल कार्यालय से मदद मिलती रही.

उप समाहर्ता के भूमि वापसी के आदेश के बाद कब्जाधारी मामले को उच्च न्यायालय ले गये. कब्जा धारियों ने उच्च न्यायालय में डब्ल्यूपीसी 2087 2018 राकेश गोयल एवं अन्य बनाम झारखंड सरकार एवं अन्य दायर किया था.

न्यायालय ने पूरे मामले को नये सिरे से उप समाहर्ता को फिर से सुनने को कहा. इस दौरान कब्जाधरी जमीन के दावे से संबंधित पुख्ता कागजात कोर्ट के समक्ष रख नहीं सके.

इसके उपरांत 25 अक्टूबर 2019 को न्यायालय, उपसमाहर्ता ने सोनिया मुंडा के वारिसों को जमीन पर कब्जा दिलाने का आदेश निर्गत किया.

इसे भी पढ़ें : #JSLPS में अब नियुक्तियां सरकार के स्तर से कराने की तैयारी, पहले हुई नियुक्तियों की भी होगी जांच

क्या कहा अचंल अधिकारी ने

अनगड़ा अंचल अधिकारी देव प्रिया ने न्यूजविंग को बताया कि 17 फरवरी को पर्याप्त सुरक्षा बल उपलब्ध नहीं होने के कारण दिव्यांग परिवार की जमीन पर से अवैध कब्जा नहीं हटाया जा सका.

लेकिन सोमवार को आठ एकड़ जमीन की दखल दिहानी करा दी गयी. बची हुई जमीन जांच के बाद वापस करा दी जायेगी.

इसे भी पढ़ें : जिम्मेदारी थी पेयजल विभाग की, टेंडर निकाला भवन निर्माण विभाग ने, विधायक की आपत्ति के बाद रद्द हुआ टेंडर

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like