न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

NEWS WING IMPACT: आदिवासी महिलाओं के साथ दरिंदगी करने वाले क्रशर मालिकों का क्रशर सील

न्यूज विंग में  खबर प्रकाशित होने के बाद प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए आईईएल थाना में पड़ने वाले सभी पांच क्रशरों और एक ईंट भट्ठा को सील करने के आदेश दिये हैं.

1,159

Bokaro/Ranchi : क्रशर और ईंट भटठे में काम करने वाली महिलाओं पर हो रहे अत्याचार, दुष्कर्म की खबर सामने आने के बाद प्रशासन ने ठोस कार्रवाई करते हुए आई ई एल थाने के पांच क्रशरों और एक ईंट भट्ठे के संचालन पर रोक लगा दी है. मालूम हो कि सीएम चाचा रोज ही लुटती है हमारी इज्जत, कभी मालिक तो कभी साहेब रात में नोचते हैं, बचाइए ना हमें शीर्षक के साथ न्यूज विंग ने खबर प्रकाशित की थी. जिसमें बोकारो जिला के गोमिया प्रखंड में आदिवासी महिलाओं के साथ हो रहे हैवानियत को लेकर गुमनाम पत्र सीएम रघुवर दास को लिखा गया था. न्यूज विंग में  खबर प्रकाशित होने के बाद प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए आईईएल थाना में पड़ने वाले सभी पांच क्रशरों और एक ईंट भट्ठा को सील करने के आदेश दिये हैं. इन्हें झारखंड मिनरल रुल 2017 के अनुसार संचालन पर रोक लगाई गयी है. जिला खनन पदाधिकारी ने थाना प्रभारी को इसका संचालन न हो इसपर भी निगरानी रखने के आदेश दिये हैं.

इसे भी पढ़ें – 140  IAS और 60 IFS बायोमिट्रिक से नहीं बनाते हैं हाजिरी, राज्य प्रशासनिक सेवा अफसरों ने भी छोड़ा हाजिरी बनाना

इनके क्रशर होंगे सील 

जिला खनन पदाधिकारी ने जिन पांच क्रशर एवं ईंट भट्ठों को सील करने के आदेश दिये हैं. उनमें से कोई भी झारखंड मिनरल रुल के हिसाब से निबंधित नहीं है और ना ही ईंट भट्ठा को अनुज्ञप्ति प्राप्त है. अनिल प्रसाद का स्टोन क्रशर, मेसर्स मुकेश प्रसाद स्टोन क्रशर, मेसर्स राम रहीम स्टोन वर्क्स प्रो. संजय कुमार, मेसर्स देवकी स्टोन वर्क्स प्रो. दीपक कुमार, मेसर्स बीरेन्द्र प्रसाद स्टोन क्रशर प्रो. बीरेन्द्र प्रसाद के क्रशरों को बंद करने के आदेश हैं. साथ ही मुकेश कुमार के ईंट भट्ठा को भी बंद करने के आदेश हैं.

इसे भी पढ़ें – नरेंद्र सिंह होरा हत्याकांड को सुलझाने में लगी है रांची पुलिस की विशेष अनुसंधान टीम

क्या कहते हैं बोकारो एसपी

हमने गुमनाम लेटर वाले मामले को लेकर जांच के लिए भेजा है, कल जांच रिपोर्ट आ जाएगा.जांच डीपीओ कर रहे हैं. लास्ट टाईम भी बंधक बनाकर भी लेबर को रखा था. साथ ही लास्ट टाईम भी ऐसा ही मामला आया था. पिछले टाइम मिले लाश को लेकर भी हम जांच कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – फाइलों में दफन हो गये 75000 करोड़ के एमओयू, अब 56000 करोड़ का निवेश भी अटका

क्या था पूरा मामला

बोकारो जिला के गोमिया प्रखंड के आइईएल थाना क्षेत्र की आदिवासी महिलाओं ने झारखंड के मुख्यमंत्री को गुमनाम पत्र भेजकर इज्जत बचाने की गुहार लगाई है. पत्र की कॉपी मुख्यमंत्री के अलावा बोकारो के उपायुक्त व एसपी को भी भेजी है. पत्र मिलने के बाद से महकमा सकते में है. महिला ने सीएम को भेजे गए पत्र में कहा है कि बोकारो के गोमिया में चल रहे एक अवैध क्रशर में काम करनेवाली महिलाओं के साथ हर रात दुष्कर्म होता है. कभी-कभार साहब लोग भी आते हैं और रात में क्रशर में उनके साथ गंदा काम करते हैं. उन्होंने अपनी चिट्ठी में कहा है कि एक बार करीब दो महीने पहले उन लोगों की तरफ से एक साथी ने आवाज उठाने की कोशिश की तो उसकी हत्या कर दी गयी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: