JharkhandLateharTODAY'S NW TOP NEWSTop Story

News Wing Impact : सवा करोड़ के घोटाले के आरोपी डॉ अमरनाथ खबर छपने के बाद फरार

Latehar : सवा करोड़ का घोटाला मामले में फरार आरोपी चिकित्सक चार साल से कर रहे हैं सरकारी नौकरी  नाम के शीर्षक से न्‍यूज विंग ने खबर छापी थी. खबर छपने के बाद आरोपी डॉक्‍टर अमरनाथ फरार हो गये हैं. न्‍यूज विंग ने लिखा था कि कैसे आरोपी डॉक्‍टर पर वारंट होने के बाद भी सरकारी मीटिंग में भाग लेते हैं और चार साल से अपनी सेवा दे रहे हैं. आपको बता दें कि डॉ अमरनाथ पर वर्ष 2011-2012 में सदर अस्पताल, चतरा के लिए डीजल मशीन और जेनेरेटर आदि की खरीद की गयी थी. इस खरीद में कुल एक करोड़ 21 लाख का घोटाला उजागर हुआ था. इसकी जांच सरकार की ओर से की गयी थी. इस मामले में सदर अस्पताल चतरा के तात्कालिक सिविल सर्जन सह मेडिकल पदाधिकारी डॉक्टर अमरनाथ प्रसाद को दोषी पाया गया था. चतरा सदर थाने में आरोपी डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था. मामले की कांड संख्या 143/213 है.

बालूमाथ में पदास्‍थापित डॉक्‍टर को सीएल पकड़ा कर फरार

खबर छपने के बाद नाटकीय तरीके से सात दिन की आकस्मिक सीएल छुट्टी ले कर फरार हो गये. वहीं खबर के परकाशन के बाद बालूमाथ थाना पुलिस की सक्रियता बढ़ गयी है. पुलिस की सक्रियत बढ़ता देख डॉ अमरनाथ गुरुवार की सुबह अपने एक भतीजे के माध्यम से बालूमाथ हस्पताल में पदस्थापित डॉ अशोक ओरिय को सात दिन का सीएल छुट्टी का एक पत्र थमा कर फरार हो गये हैं. पत्र में आरोपी डॉ अमरनाथ ने लिखा है कि आकस्मिक कार्य हेतु छुट्टी में जाना चाहता हूं. डॉ अशोक ओरया ने बताया कि पत्र को सिविल सर्जन लातेहार को भेज दिया गया है, स्वीकृति मिली है कि नहीं पाता नहीं. सिविल सर्जन लातेहार डॉ एसपी शर्मा ने बताया कि डॉ अमरनाथ ने सीएल मिला है, स्वीकृति दिया गया है. डॉ अमरनाथ की जगह बालूमाथ अस्पताल का प्रभार डॉ अशोक ओरिय को दिया गया है.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें : LATEHAR: सवा करोड़ का घोटाला मामले में फरार आरोपी चिकित्सक चार साल से कर रहे हैं सरकारी नौकरी  

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

Related Articles

Back to top button