न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पूर्वी तुर्की में शक्तिशाली #Earthquak से 20 लोगों के मारे जाने की खबर, 1,000 से अधिक घायल

राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने कहा कि भूकंप से प्रभावित लोगों की मदद के लिए सभी कदम उठाये जा रहे हैं. उन्होंने टि्वटर पर कहा, हम अपने लोगों के साथ हैं.

45

Ankara : पूर्वी तुर्की में शुक्रवार की रात आये भयावह भूकंप से कम से कम 20 लोगों की मौत हो जाने की खबर है.  1,000 से अधिक लोग घायल बताये जाते हैं. बचाव दल शनिवार तड़के भी इमारतों के मलबे में जीवित बचे लोगों की तलाश में जुटे रहे. भूकंप की तीव्रता 6.8 मापी गयी है.

भूकंप के बाद कम से कम 30 लोग लापता हैं. इस भूकंप का केंद्र पूर्वी प्रांत एलाजिग के सिवराइस शहर में था. एलाजिग में रहने वाले 47 वर्षीय मेलाहाट कैन ने कहा, यह काफी डरावना था, फर्नीचर हमारे ऊपर गिरने लगा.  हम बाहर की ओर भागे.

इसे भी पढ़ें : #Chief_Justice_Bobde ने कहा, नागरिकों पर मनमाना टैक्स लगाना सामाजिक अन्याय,  टैक्स चोरी भी अन्याय

लोग ठंड से बचने के लिए सड़कों पर अलाव जलाकर बैठे हैं

राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने कहा कि भूकंप से प्रभावित लोगों की मदद के लिए सभी कदम उठाये जा रहे हैं. उन्होंने टि्वटर पर कहा, हम अपने लोगों के साथ हैं. डर के चलते अपने घरों से भागे लोग हाड़ कंपा देने वाली ठंड से बचने के लिए सड़कों पर अलाव जलाकर बैठे हैं.

hotlips top

तुर्की सरकार की आपदा एवं आपात प्रबंधन एजेंसी (एएफएडी) ने कहा कि सिवराइस में स्थानीय समयानुसार शुक्रवार रात करीब आठ बजकर 55 मिनट पर भूकंप आया. देश भूकंप के लिहाज से संवदेनशील क्षेत्र है.

इसे भी पढ़ें : पुलवामा में गणतंत्र दिवस से पहले जैश आतंकियों के साथ सुरक्षाबलों की मुठभेड़, तीन को सेना ने घेरा

तलाश एवं बचाव अभियान चल रहा है

गृह, पर्यावरण एवं स्वास्थ्य मंत्रियों ने कहा कि एलाजिग प्रांत और पड़ोसी मालात्या प्रांत में अधिक लोगों की मौत हुई. एएफएडी के अनुसार, कम से कम 20 लोगों की मौत हुई है और 1,015 अन्य घायल हुए हैं. गृह मंत्री सुलेमान सोयलु ने कहा, मालात्या में मलबे में कोई फंसा नहीं है लेकिन एलाजिग में 30 लोगों का पता लगाने के लिए तलाश एवं बचाव अभियान चल रहा है. मालात्या में भूकंप पीड़ितों को शरण देने के लिए खेल केंद्र, स्कूल और गेस्ट हाउसों को खोला गया है.

इसे भी पढ़ें : भीमा कोरेगांव हिंसाः मामले की जांच NIA को दिये जाने से केंद्र और महाराष्ट्र सरकार में ठनी

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like