Lead NewsNational

भारत को बदनाम कर रहा है ‘न्यूज़ क्लिक पोर्टल’, विदेशों से 30 करोड़ की फंडिंग : संबित पात्रा

भाजपा प्रवक्ता ने कहा, इनका खास मकसद होता है देश में भ्रम, अराजकता फैलाना

New Delhi : भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने खबरों की एक वेबसाइट ‘न्यूज़ क्लिक पोर्टल’ पर एक खास एजेंडे के तहत काम करने का आरोप लगाया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि न्यूज क्लिक को विदेशों से फंडिंग होती है. ये वेबसाइट इंटरनेशनल टूलकिट का हिस्सा है.

इसे भी पढ़ें :शॉर्ट सर्किट से कपड़ा गोदाम में लगी आग, करोड़ों का सामान जलकर राख

संबित पात्रा ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, ”यह न्यूज़ वेबसाइट भारत को बदनाम कर रही है. इस वेबसाइट को विदेशों से फंडिंग मिलती है. यह वेबसाइट अंतरराष्ट्रीय साजिश का हिस्सा है.” उन्होंने कहा, ”इस वेबसाइट से संबंधित एक खबर आपने पढ़ी होगी कि करोड़ रुपये विदेशों से संदिग्ध रूप से हिंदुस्तान में आए हैं उसका एक ही मकसद है कि भारत सरकार को नाकाम बताकर विदेश की कुछ ताकतों का एजेंडा चलाना.”

advt

इसे भी पढ़ें :BSNL ने ग्राहकों को बकरीद पर दी ईदी, अनलिमिटेड फ्री नाइट डेटा सहित कई सुविधाएं दीं

हमारी वैक्सीन नीति को बदनाम कर रहे हैं

उन्होंने कहा, आज इस न्यूज़ वेबसाइट के बारे में जो तथ्य सामने आया है, इससे एक बात स्पष्ट है कि ‘टूलकिट’ केवल भारत के कुछ राजनीतिक दल चला रहे हैं, ऐसा नहीं है. बल्कि भारत के बाहर भी एक ऐसी साजिश हो रही है, जो इस ‘टूलकिट’ का हिस्सा है.

adv

संबित पात्रा ने कहा कि हमारी वैक्सीन नीति को बदनाम किया जाए, यह कुचेष्टा कुछ लोगों, कुछ संस्थाओं और कुछ ‘पोर्टल्स’ ने की है. इस न्यूज़ वेबसाइट को बाहरी ताकतें पैसा भेजती थीं. ये ‘पीपीके’ नाम की कंपनी के अंतर्गत आती है. इन्होंने करोड़ रुपये के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को स्वीकार किया. इसमें मुख्य रूप से विदेश के तीन लोग सम्मिलित थे. इसके अलावा करीब 30 करोड़ रुपये इन्होंने विदेशों की अलग-अलग एजेंसियों से प्राप्त किया.

उन्होंने आरोप लगाया कि मीडिया की चादर ओढ़कर पोर्टल चलाने वाले कुछ तथाकथित कार्यकर्ता हैं, जिनके साथ कुछ विदेशी ताकतें हैं और भारत के कुछ बड़ राजनीतिक दलों के नेता भी हैं. इनका एक समूह बना है. पूरे सामंजस्य के साथ ये काम करते हैं, इनका मकसद होता है देश में भ्रम, अराजकता फैलाना.

इसे भी पढ़ें : बड़े प्रकाशनों की इस भूल को कैसे देखा जाना चाहिये

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: