न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

न्यूजीलैंड फायरिंगः 49 लोगों की हत्या के आरोपी को अदालत में किया गया पेश

बंद कमरे में हुई सुनवाई, अगली सुनवाई 5 अप्रैल को होगी

792

Christchurch (New Zealand): न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में शुक्रवार को दो मस्जिदों में गोलीबारी कर 49 लोगों को मौत के घाट उतारने के आरोपी दक्षिणपंथी हमलावर को शनिवार को अदालत में पेश किया गया. ऑस्ट्रेलिया में जन्मा 28 वर्षीय ब्रेंटन टारेंट हाथ में हथकड़ी और कैदियों वाली सफेद रंग की कमीज पहने अदालत में पेश हुआ. न्यायाधीश ने उसके खिलाफ हत्या के आरोप तय किए. उस पर और भी आरोप लगाए जा सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंःशिलांग टाइम्स अवमानना मामलाः SC ने मेघालय HC के फैसले पर लगायी रोक

बंद कमरे में सुनवाई

हमलावर पूर्व फिटनेस ट्रेनर है. उसने कई बार अदालत में मौजूद मीडिया की ओर देखा. सुरक्षा कारणों के चलते सुनवाई बंद कमरे में हुई. हमलावर ने जमानत की कोई अर्जी नहीं दी. पांच अप्रैल को होने वाली अगली सुनवाई तक उसे हिरासत में रखा जाएगा.

इस बीच न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने शनिवार को हमले के वैश्विक स्तर पर पड़े प्रभाव को रेखांकित करते हुए कहा कि उनकी सरकार हमले के बाद पड़े प्रभाव से निपटने के लिए ‘पाकिस्तान, तुर्की, सऊदी अरब, बांग्लादेश, इंडोनेशिया और मलेशिया’ के महावाणिज्य अधिकारियों के साथ मिलकर काम कर रही है.

देश के बंदूक संबंधी कानूनों पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि वह इसमें बदलाव करने को तैयार हैं. अर्डर्न ने कहा कि हमलावर ने नवम्बर 2017 में ‘श्रेणी ए’ के बंदूक लाइसेंस हासिल कर हमले के लिए हथियार खरीदने शुरू किए थे.

इसे भी पढ़ेंः आंकड़ों का है कहना जमशेदपुर लोकसभा सीट पर भगवा रंग को बड़ी चुनौती देगा महागठबंधन का समीकरण

उन्होंने कहा, ‘यह मात्र तथ्य है कि इस व्यक्ति ने बंदूक लाइसेंस हासिल कर लिया था और उस स्तर तक के हथियार हासिल कर लिए थे.जाहिर है मुझे लगता है कि लोग बदलाव की मांग करेंगे, और मैं इसे करने के लिए प्रतिबद्ध हूं.’

हमले में 49 लोगों की गई जान

गौरतलब है कि न्यूजीलैंड में शुक्रवार को दो मस्जिदों में हुए आतंकी हमले ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है. क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों में आतंकी गोलीबारी में कम से कम 49 लोगों की जानें चली गई. हमले में घायल चार वर्षीय बच्चे सहित 42 लोगों का इलाज जारी है.

खबर है कि हमले के बाद 9 भारतीय नागरिक लापता बताए हैं. हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है. वहीं हमले में जमशेदपुर का रहनेवाला एक शख्स भी जख्मी हुआ है. जिसका इलाज अस्पताल में चल रहा है.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में राजनीतिक दलों के पास स्टार प्रचारकों का टोटा

मानवता के खिलाफ जघन्य अपराध- भारतीय राजदूत

भारतीय राजदूत कोहली ने बताया कि मानवता के खिलाफ ये एक जघन्य अपराध है, हमारी प्रार्थनाएं पीड़ित परिवारों के साथ है. क्राइस्टचर्च समुदाय के उन लोगों के प्रति मेरा आभार है जो दिन-रात मौके पर मौजूद हैं और पल-पल की जानकारी से हमें अपडेट करवा रहे हैं. ज्ञात हो कि हमलावर ने मस्जिद हमले के दौरान फेसबुक पर लाइव था. और पूरे हमले का वीडियो भी बनाया. बताया जाता है कि हमलावर गोलीबारी करने से पहले ट्विटर के जरिए अपना मकसद बताया था.

इसे भी पढ़ेंःरांचीः छह विधायकों के दलबदल मामले में 25 मार्च को HC में सुनवाई

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: