Sports

#Cricket :  हर साल #ICC टूर्नामेंट करवाने के पक्ष में नहीं है #ECB, भारत भी कर चुका है विरोध

New Delhi :  इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने आइसीसी को सूचित किया है कि वह 2023से 2031 तक हर साल आइसीसी टूर्नामेंट कराने के पक्ष में नहीं है. भारतीय बोर्ड पहले ही इसका विरोध कर चुका है और क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने उसका समर्थन किया है. ऐसा समझा जाता है कि विश्व क्रिकेट के ‘बिग थ्री’ के बीच सहमति बनने के बाद आइसीसी की राह मुश्किल होगी.

Jharkhand Rai

ईसीबी अध्यक्ष कोलिन ग्रेव्स ने आइसीसी के मुख्य कार्यकारी मनु साहनी को एक ईमेल में कहा है ,‘‘ ईसीबी 2023 से 2031 के बीच हर साल आइसीसी टूर्नामेंट कराने के पक्ष में नहीं है.’’

इसे भी पढ़ेंः #Maharashtra: अयोध्या फैसले के बाद बोले संजय राउत- पहले राम मंदिर, फिर महाराष्ट्र में सरकार

दुबई में आइसीसी की पिछली बैठक में प्रस्ताव रखा गया था कि आठ साल की अवधि में 2023 से 2031 के बीच 50 ओवरों के दो विश्व कप, चार टी20 विश्व कप और दो बहुराष्ट्रीय टूर्नामेंट आयोजित किये जायेंगे.

Samford

ग्रेव्स ने कहा कि इस तरह का प्रस्ताव मानने से उसके अपने द्विपक्षीय करारों पर असर पड़ेगा. इसके अलावा खिलाड़ियों के कार्यभार और स्वास्थ्य का भी मसला है. वहीं इससे आइसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल भी बेनूर हो जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः #BSNL के 40,000 से अधिक कर्मचारी  #VRS का विकल्प अपना चुके हैं : प्रबंध निदेशक

ग्रेव्स ने कहा कि आइसीसी विश्व चैम्पियनशिप की बढ़ती संख्या से इसका महत्व घट जायेगा.
उन्होंने कहा ,‘‘ ईसीबी की प्राथमिकता खिलाड़ी हैं और मौजूदा प्रस्ताव मानें तो खिलाड़ियों को आराम के लिए समय ही नहीं रह जायेगा. आइसीसी को खिलाड़ियों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की चिंता करनी चाहिये.’’

इसे भी पढ़ेंः Journalist #TavleenSingh ने कहा, यकीन नहीं हो रहा,  #ModiGovernment ने मेरे बेटे आतिश को देश से निर्वासित कर दिया  

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: