Bihar

भ्रष्टाचार से कभी समझौता नहीं किया और न कभी कर सकते हैं: नीतीश

Patna: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर में बालिका आश्रयगृह में 34 लड़कियों के साथ यौन शोषण मामले सहित प्रदेश के अन्य अल्पावास और आश्रयगृहों में हाल में उजागर हुई अनियमितताओं की ओर इशारा करते हुए कहा कि इसमें जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा.

इसे भी पढ़ेंःअटल बिहारी वाजपेयी की हालत बेहद नाजुक,  फुल लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर पूर्व प्रधानमंत्री

नीतीश ने 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में तिरंगा फहराने के बाद अपने संबोधन में मुजफ्फरपुर सहित अन्य आश्रयगृहों में आनियमितताओं की ओर इशारा करते हुए आश्वस्त किया कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा, ‘‘हम सब लोगों से यही अपील करेंगे कि अगर हम न्याय के साथ विकास चाहते हैं तो समाज में प्रेम, सद्भावना, मैत्री और सभी लोगों को एक दूसरे के प्रति आदर का भाव रखना चाहिए.’’

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ेंःकेरल में दक्षिण रेलवे, कोच्चि मेट्रो का परिचालन बंद, राजनाथ ने ली बाढ़ की स्थिति की जानकारी

The Royal’s
Sanjeevani

भ्रष्टाचार से समझौता नहीं

नीतीश ने कहा कि हम लोगों ने भ्रष्टाचार से कोई समझौता नहीं किया और हम न कभी कर सकते हैं . कोई भी व्यक्ति हो. कोई लोकसेवक भी क्यों न हो या संस्था, अगर वह भ्रष्टाचार में संलिप्त है तो उसे बख्शा नहीं जाता है. इसलिए हर हालत में कानून का राज्य कायम रहे. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार की उपलब्धियों और प्रदेश में विभिन्न क्षेत्रों में किए गए कार्यों का जिक्र करते हुए कई घोषणाएं भी कीं.

संविदा कर्मियों को सीएम का तोहफा

स्‍वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के सभी संविदाकर्मियों को सरकारी कर्मियों की तरह ही लाभ देने की बड़ी घोषणा की. संविदाकर्मियों को सरकारी कर्मियों की तरह ही सभी लाभ मिलेंगे. उनकी सेवा शर्त अनुशंसा के अनुसार लागू की जाएगी. इसमें अवकाश, सेवा दिवस तथा नई रिक्तियों में मौके जैसी तमाम बातें निहित हैं. मुख्‍यमंत्री की इस घोषणा को उनका चुनावी ‘मास्टर स्ट्रोक’ माना जा रहा है. इसे 2019 के लोकसभा तथा 2020 के विधानसभा चुनावों से जोड़ा जा रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Related Articles

Back to top button