BiharNEWS

सीवान में सरकारी अस्पताल की लापरवाही,अस्पताल में भर्ती नहीं करने पर गर्भवती ने सड़क पर बच्चे को दिया जन्म

SIWAN: सीवान में एक सरकारी अस्पताल में गर्भवती महिला को भर्ती नहीं किए जाने के कारण महिला के सड़क पर ही बच्चे को जन्म दिए जाने का मामला सामने आया है. घटना गोरेयाकोठी प्रखंड स्थित जामो बाजार के सरकारी अस्पताल की है. जहां शुक्रवार देर रात एक महिला प्रसव पीड़ा से कराहती हुई अस्पताल पहुंची थी. आरोप है कि अस्पताल प्रबंधक ने महिला को भर्ती नहीं लिया और अस्पतालकर्मियों ने महिला को धक्का देकर बाहर निकाल दिया. महिला पीड़ा से कराहती हुई वापस लौट रही थी, इसी दौरान जामो बाजार के दलित बस्ती के पास सड़क पर ही महिला ने बच्चे को जन्म दे दिया. पीड़ित महिला गोपालगंज जिले के माझा प्रखंड के पथरा गांव की रहने वाली है.

इसे भी पढ़ें:  मुंगेर में मिनी गन फैक्ट्री का उद्भेदन,48 अर्द्धर्निमित पिस्टल के साथ 3 तस्कर गिरफ्तार

Catalyst IAS
ram janam hospital

क्या कहा पीड़िता ने

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

घटना के बारे में पीड़ित महिला ने बताया कि वह जामो बाजार एलआईसी ऑफिस में किसी काम के सिलसिले में आई थी, तभी उसे प्रसव पीड़ा होने लगा. वह जामो अस्पताल पहुंची. तब अस्पताल की एक महिला आशा ने 1000 रुपये लिए और दर्द कम करने के लिए दो इंजेक्शन लगाए. महिला ने फोन कर अपने पति को बाजार से अस्पताल बुलाने के लिए कहा. इतने में अस्पताल के कर्मचारी महिला से उलझ गए.महिला ने आरोप लगाया कि अस्पताल प्रशासन ने उसके गले में हाथ लगाकर धक्का देते हुए निकाल दिया. इसके बाद प्रसव पीड़ा से चीख रही महिला ने सड़क पर ही नवजात को जन्म दे दिया.

घटना से आक्रोशित परिजनों-ग्रामीणों को सिविल सर्जन ने दिया आश्वासन

गर्भवती महिला से सरकारी अस्पताल में हुए इस तरह के व्यवहार की जानकारी मिलते ही स्थानीय ग्रामीण और परिजन बेहद आक्रोशित हैं.परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर गैर जिम्मेदाराना व्यवहार करने का आरोप लगाया है.परिजनों का आरोप है कि महिला प्रसव पीड़ा से कराहती हुई सरकारी अस्पताल आई थी.लेकिन अस्पताल प्रशासन ने उसे भर्ती नहीं किया. वहीं घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने अस्पताल के मुख्य गेट में ताला जड़ दिया और जमकर हंगामा किया.मामले के तूल पकड़ने पर सिविल सर्जन ने घटना को दुर्भायपूर्ण बताते हुए कहा कि जो भी दोषी होंगे, उनके खिलाफ जरूर कार्रवाई की जाएगी. सिविल सर्जन डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा ने बताया कि मामला संज्ञान में है. मामले की जांच के आधार पर आरोपियों के ऊपर कार्रवाई की जाएगी.

 

Related Articles

Back to top button