Corona_UpdatesKhas-Khabar

#Garhwa के क्वारेंटाइन सेंटर पर बड़ी लापरवाहीः कोरोना संदिग्ध के लिए बच्चे बना और परोस रहे खाना, प्रशासन बेखबर

Garhwa: कोरोना वायरस का संक्रमण कितना खतरनाक है ये देश-दुनिया में संक्रमितों के आंकड़े बता रहे हैं. वहीं इस वायरस से बच्चों और बुजुर्गों को खासतौर से बचाने के लिए बार-बार जागरुक किया जा रहा है. क्योंकि इनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है. लेकिन पलामू प्रमंडल के गढ़वा जिले में जो नजारा दिखा, वो बड़ी लापरवाही के साथ नौनिहालों की जान से सीधा खिलवाड़ है.

इसे भी पढ़ेंः#Lockdown21: गुजरात में फंसे राज्य के मजदूरों ने सीएम से मांगी मदद, वीडियो वायरल होने पर कंपनी ने देर रात पहुंचाया राशन

गढ़वा के श्री बंशीधर नगर प्रखंड के भोजपुर पंचायत भवन में बने क्वारेंटाइन सेंटर में नौनिहालों की जान से खिलवाड़ किया जा रहा है. यहां नौनिहालों से भोजन बनवाकर क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों को परोसा जा रहा है.
शनिवार को भोजपुर पंचायत सचिवालय के बाहर क्वारेंटाइन सेंटर में बच्चों को सब्जी काटते देखा गया. सब्जी काट रहे मुबारक अंसारी एवं रितेश कुमार ने बताया कि वे लोग खाना बनाते हैं और लोगों को खिलाते हैं. उनलोगों ने बताया कि इस क्वारेंटाइन वार्ड में फिलहाल बाहर से आये दस लोगों को 14 अप्रैल तक के लिये रखा गया है.

नौनिहालों की जान से खिलवाड़

बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए देश में लॉकडाउन घोषित है. दूसरे राज्यों से आये लोगों को रखने के लिये सभी पंचायतों में स्थित पंचायत भवन को क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया है. फिलहाल सभी क्वारेंटाइन सेंटर में बाहर से आये लोग रह रहे हैं. लोगों को खाने, पीने एवं उनकी देखभाल करने की जिम्मेवारी पंचायत की है. इसकी निगरानी की जिम्मेवारी मुखिया एवं वार्ड में प्रतिनियुक्त किये गये कर्मियों की है. साथ ही साथ वार्ड में रह रहे लोगों की देखभाल के लिये होमगार्ड के जवान को प्रतिनियुक्त किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः #LockDown21 : लॉकडाउन का पालन नहीं करनेवालों पर हो रही कार्रवाई, तीन दिनों में 131 वाहन जब्त, 251 को शो-कॉज

वार्ड में बाहरी लोगों का प्रवेश वर्जित है. वार्ड में रह रहे लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना है, किंतु यहां सब कुछ उलट है. भोजपुर पंचायत भवन में बने क्वारेंटाइन वार्ड में नौनिहालों की जान से खिलवाड़ के साथ-साथ दिन के उजाले में श्रम कानून की धज्जियां भी उड़ाई जा रही है. नौनिहालों से बाल मजदूरी करायी जा रही है. नौनिहालों से भोजन बनवाकर वार्ड में रह रहे लोगों को उन्हीं से भोजन भी परोसवाया जा रहा है.

जांच के बाद होगी कार्रवाई

उधर, इस संबंध में पूछने पर बीडीओ अमित कुमार ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है. अगर ऐसा हो रहा है तो मामले की जांच कर दोषी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ेंःरांची विवि ने वीडियो क्लासेस शुरू किये, मगर 18 विभाग के 947 टीचर्स में मात्र 65 के लेक्चर यूट्यूब पर

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: