Education & CareerJamshedpurJharkhandNEWS

लापरवाही :  8 माह में भी BOI ने नहीं खोला खाता, मिडिल स्कूल गीतिलता के 18 बच्चों को नहीं मिल रहा सरकारी योजनाओं का लाभ

Ghatshila :  बैंक ऑफ इंडिया की लापरवाह रवैये के कारण  पोटका प्रखंड के मध्य विद्यालय गीतिलता के 18 छात्र- छात्राएं सरकारी योजनाओं का लाभ लेने से वंचित हैं. बता दें कि 20 दिसंबर, 2021 को 40 छात्र-छात्राओं को मध्यान्ह भोजन हेतु प्रतिपूर्ति भत्ता के रूप में कुल 39599. 68 रुपये बैंक में सूची के साथ जमा किये गये, लेकिन कोरोना लॉक डाउन पीरियड का यह प्रतिभूति भत्ता भी अभी तक बच्चों के खाते में ट्रांसफर नहीं किया गया है.

हर हफ्ते अगले सप्ताह आने को कह देते हैं बैंककर्मी

आठ माह पहले इन छात्र-छात्राओं का बैंक अकाउंट खोलने के लिए सारे दस्तावेज बैंक में जमा करा दिये गये थे, लेकिन आज तक खाता नहीं खुल पाया. जानकारी के अनुसार 8 सितंबर 2021 को बैंक ऑफ इंडिया की हाता शाखा में गितिलता मध्य विद्यालय की तरफ  से 28 बच्चों का डॉक्यूमेंट जमा किया गया था. इनमें से मात्र 10 बच्चों का ही अकाउंट खुल पाया है. हालांकि उन्हें अभी तक पासबुक प्राप्त नहीं हुई है. शेष 18 बच्चों का अभी तक खाता ही नहीं खुला है. स्कूल के शिक्षक और शिक्षिका जब भी बैंक जाते हैं, तो वहां से अगले सप्ताह  आने को बोल दिया जाता है.  पिछले आठ माह में करीब 20 से 25 बार स्कूल के शिक्षक-शिक्षिका बच्चों की खाता संख्या लेने के लिए बैंक जा चुके हैं, लेकिन खाता नहीं खुल सका है. खाता नहीं खुलने से छात्र कई योजनाओं का लाभ लेने से वंचित रह रहे हैं.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ें – हेमंत सरकार को कांग्रेस का FULL SUPPORT, सीएम पर रघुवर दास के आरोपों पर पार्टी को नहीं ऐतबार

Related Articles

Back to top button