Main SliderNational

NEET- JEE  की परीक्षा को सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी, कोर्ट ने कहा – साल बर्बाद नहीं कर सकते

NewDelhi : मेडिकल प्रवेश परीक्षा NEET  और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा JEE के आयोजन को सुप्रीम कोर्ट ने हरी झंडी दिखा दी है. परीक्षा को स्थगित करने के खिलाफ दायर की गयी याचिका को कोर्ट ने खारिज कर दी है. जस्टिस अरूण मिश्रा की बेंच ने परीक्षा को स्थगित करने वाली य़ाचिका के खारिज किया है.

याचिका को खारिज करते हुए कोर्ट ने कहा है कि, क्या देश में सब कुछ को रोक दिया जाये, कीमती एक साल को बर्बाद होने दिया जाये? दरअसल सितंबर में होने वाली परीक्षा को लेकर कोरोना के बढ़ते संक्रमण का हवाला देकर स्थगित करने की मांग की गयी थी. इस मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस अरूण मिश्रा की अगुवाई वाली बेंचकर रही है.

यहां बता दें कि JEE की परीक्षा 1-6 सितंबर तक आयोजित होनी है. जबकि NEET की परीक्षा 13 सितंबर को होना है. लेकिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए 11 राज्यों को 11 छात्रों ने इसे स्थगित करने की याचिका दायर की थी. याचिका में कोर्ट से परीक्षा को स्थगित करने की अनुरोध कोर्ट से किया गया था.

Chanakya IAS
SIP abacus
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें – फेसबुक विवाद : फेसबुक इंडिया पब्लिक डायरेक्टर अंखी दास को धमकी, दर्ज करायी शिकायत

The Royal’s
MDLM
Sanjeevani

जुलाई से ही परीक्षा को रद्द करने की उठी थी मांग

दायर याचिका में NTA राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी  की तीन जुलाई को निकाले गये नोटिस को रद्द करने का अनुरोध किया गया था. दरअसल NTA की ओर से निकाले गये नोटिस में JEE और NEET की प्रवेश परीक्षा को सितंबर में लेने का निर्णय लिया गया है.

जिसके बाद 11 राज्यों के 11 छात्रों ने कोर्ट में याचिका दायर कर कोरोना संक्रमण की वजह से  परीक्षा को स्थगित करने का अनुरोध किया गया था. हालांकि परीक्षा को रद्द को करने की मांग जुलाई से ही की जा रही है. इसके अलावा देशभर के छात्रों की ओर से सोशल मीडिया पर #ripnta के नाम से मुहिम भी चलायी गयी थी.

इसे भी पढ़ें – टेरर फंडिंग मामले में अंतरिम राहत का आदेश 10 सितम्बर तक बढ़ा, हाईकोर्ट ने पास किया जनरल ऑर्डर

 

9 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button