न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एशियाई खेलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने पर नीरज का लक्ष्य

312

Jakarta : एशियाई खेलों में भारत के सबसे बड़े पदक दावेदारों में से एक भालाफेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा दबाव में फंसना नहीं चाहते हैं और जकार्ता तथा पालेमबांग में होने वाले एशियाई खेलों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने पर ध्यान दे रहे हैं. इन खेलों के उद्घाटन समारोह में 20 साल के नीरज भारतीय दल की अगुवाई करेंगे. इस युवा खिलाड़ी ने कहा कि उद्धाटन समारोह में देश का झंडा लेकर चलना सम्मान की बात है.

इसे भी पढ़ें- एशियाई खेलों से टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस ने वापस लिया नाम

इस साल शानदार फार्म में है नीरज 

नीरज ने कहा कि इस प्रतिष्ठित आयोजन में भारतीय दल की अगुवाई करना और देश का झंडा लेकर चलना मेरे लिए सम्मान की बात है. एशियाई खेलों में जहां तक मेरी तैयारियों की बात है, मैं यह कहना चाहता हूं कि मैं पदक या स्थान के बारे में नहीं सोच रहा हूं. मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहता हूं. नीरज किसी विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी है. उन्होंने 2016 युवा विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था. इस साल वह शानदार फार्म में है और भाला 85 मीटर से दूर फेंक रहे हैं. उन्होंने मई में दोहा डायमंड लीग में 87.43 मीटर भाला फेंककर राष्ट्रीय रिकार्ड बनाया था. खास बात यह है कि इस साल भाला फेंक में एशियाई एथलीटों द्वारा किये गये पांचों सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नीरज के नाम ही हैं.

इसे भी पढ़ें- अंतिम सफर पर अटल बिहारी वाजपेयी, दिन के एक बजे तक बीजेपी मुख्यालय में अंतिम दर्शन

चाओ सुन-चेंग होंगे नीरज के सबसे बड़े प्रतिस्पर्धी

जकार्ता में उनके सबसे बड़े प्रतिस्पर्धियों में चीनी ताइपे के चाओ सुन-चेंग होंगे, जिनके नाम 91.36 मीटर का एशियाई रिकॉर्ड है. चेंग का प्रदर्शन हालांकि काफी अनियमित रहा है और वह बड़े टूर्नामेंटों में अपना सर्वश्रेष्ठ करने में नाकाम रहे हैं. पिछले साल एशियाई चैम्पियपशिप में 80.03 मीटर के साथ वह छठे स्थान पर थे. नीरज का लक्ष्य स्वर्ण का होगा तो उनके भारतीय प्रतिद्वंद्वी शिवपाल सिंह भी शीर्ष तीन में रहना चाहेंगे. उन्होंने अंतरराज्यीय चैम्पियनशिप में 82.28 मीटर दूर भाला फेंक कर एशियाई खेलों में जगह बनाई.

इसे भी पढ़ें- बढ़ानी है सरकार को स्थापना दिवस की शोभा, इसलिए छात्रों को तीन माह तक नहीं मिलेंगे 21 हजार शिक्षक

इसे भी पढ़ें- 2012 से 2017 तक झारखंड के 218 NGO का FCRA लाइसेंस रद्द कर चुका है गृह मंत्रालय

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: