न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पुलिस अकैडमी परीक्षा में मात्र तीन IPS ऑफिसर हुए पास, 119 फेल

1,709

Hyderabad : भारतीय पुलिस सेवा में चुने चाने के बाद अकैडमी की परीक्षा में बेहद चौंकाने वाले नतीजे सामने आए हैं. इस परीक्षा में मात्र तीन ही आईपीएस ऑफिसर पास हो सके हैं. कुल 122 ट्रेनी ऑफिसरों ने यह जरूरी परीक्षा दिया था जिसमें से 119 फेल हो गए. हांलाकि इन अफसरों के पास होने के लिए तीन मौके दिए जाते हैं. अगर इस तीन बार में वो पास नहीं होते हैं तो उेन्हे सेवा से बाहर कर दिया जाएगा. गौरतलब है कि भारतीय पुलिस सेवा में चुने जाने के बाद सेवा देने के लिए इस परीक्षा को देना रहता है. वहीं सरदार वल्लभभाई पटेल नैशनल पुलिस अकैडमी से ग्रैजुएशन के दौरान इन अफसरों के लिए इस परीक्षा में पास होना जरूरी होता है.

इसे भी पढ़ें- यशवंत सिन्हा का ट्वीट- पहले मैं लायक बेटे का नालायक बाप था, अब रोल बदल गया है

सम्मानित अफसर भी फेल की सूची में शामिल

वहीं परीक्षा में फेल होने के बाद भी फिलहाल सभी को ग्रैजुएट घोषित कर दिया गया है. साथ ही इन सभी को अलग-अलग काडरों में प्रोबेशनर भी बना दिया गया है. जबकि तीन बार में परीक्षा पास नहीं होने पर उन्हे पद से बाहर कर दिया जाएगा. वहीं इस परीक्षा में जो हैरान करने वाली बात है वो यह है कि फेल होने वाले अफसरों में वो अफसर भी शामिल हैं जन्हें पिछले साल अक्टूबर महीने में पासिंग आउट परेड में सम्मानित किया गया था. साथ ही उन्हें सम्मान के तौर पर मेडल और ट्रॉफी भी दिया गया था.

इसे भी पढ़ें- गुरुनानक स्कूल के टीचर की गोली मारकर हत्या, पारिवारिक विवाद में घटना को अंजाम दिये जाने की आशंका

पहले कभी भी ऐसा रिजल्ट नहीं हुआ : प्रॉबेशनर 

एक प्रॉबेशनर के मुताबिक पहले कभी भी अकैडमी परीक्षा के इतिहास में ऐसा नहीं हुआ है. परीक्षा में पहले भी लोग फेल हुए हैं लेकिन इतनी ज्यादा संख्या में लोगों का फेल होना अपने आप में एक बड़ा सवाल खड़ा करती है. उल्लेखनीय है कि 2016 के अकैडमी परीक्षा में मात्र दो आईपीएस अफर फेल किए थे. बाकि सब पास थे. इस परीक्षा में इंडियन पीनल कोड (भारतीय दंड संहिता) और क्रिमिनल प्रसीजर कोड (दंड प्रक्रिया संहिता) जैसे विषय शामिल हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: