Khas-KhabarMain SliderRanchi

NDA की हुंकारः जीतेंगे दुमका और बेरमो का उपचुनाव, राजनीति में परिवारवाद को जनता करेगी बेदखल

13 को दुमका से लुईस मरांडी औऱ 14 अक्टूबर को बेरमो से योगेश्वर बाटुल करेंगे नामांकन, उपचुनाव के लिये एनडीए बनायेगा चुनाव संचालन समिति  

Ranchi:  दुमका और बेरमो के लिये 3 नवंबर को उपचुनाव होने हैं. इसके लिये एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) अब एकजुट होकर चुनावी मैदान में उतरेगी. सोमवार को आजसू पार्टी मुख्यालय में भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी, प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश और आजसू पार्टी प्रमुख सुदेश महतो ने चुनाव में एक साथ मिलकर उतरने की घोषणा की.

संयुक्त प्रेस वार्ता में सबों ने दोनों सीटों पर भाजपा कैंडिडेट को आजसू और अन्य घटक दलों के सहयोग से जिताने का संकल्प लिया. इस दौरान एनडीए के नेताओं ने दावा किया कि चुनावी नतीजों के जरिये हेमंत सरकार की नाकामी उजागर होगी. परिवारवाद को वोटर खारिज करेगा. प्रेस वार्ता में बेरमो से बीजेपी उम्मीदवार योगेद्र महतो बाटुल और गिरिडीह सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी भी मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंः अब हवाई जहाज से हो रही है झारखंड की लड़कियों की ट्रैफिकिंग

ram janam hospital
Catalyst IAS

परिवारवाद से निराशा- बाबूलाल

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

बाबूलाल मरांडी ने कहा कि राज्यसभा चुनाव में बीजेपी औऱ आजसू ने मिलकर चुनाव लड़ा और जीत हासिल की. यही परिणाम बेरमो और दुमका के उपचुनाव में भी देखने को मिलेगा. नतीजे एनडीए के फेवर में आयेंगे. झामुमो और कांग्रेस में परिवारवाद का जोर है. पर इस बार के उपचुनाव में जनता परिवारवाद को हराने का मन बना चुकी है. एनडीए के नेता और कार्यकर्ता मजबूती से चुनाव लड़ेंगे. मिलकर प्रचार करेंगे.

बाबूलाल ने कहा कि बरहेट से हेमंत सोरेन विधायक हैं. जामा से सीता सोरेन. अब दुमका से हेमंत सोरेन के भाई बसंत सोरेन चुनाव लड़ रहे हैं. इस तरह की राजनीति से लोग अब उब गये हैं. राज्य में कानून व्यवस्था की हालत किसी से छिपी नहीं है. उद्योग-धंधे बंद हो रहे हैं, लेकिन ट्रांसफर-पोस्टिंग का उद्योग परवान चढ़ रहा है. बिचौलिए शासन चला रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः  नीतीश मंत्रिमंडल में मंत्री रहे विनोद कुमार सिंह का दिल्ली के मेदांता अस्तपताल में निधन,  सीएम नीतीश ने शोक जताया

संयुक्त अभियान का मिलेगा लाभ- सुदेश महतो

आजसू प्रमुख सुदेश कुमार महतो ने कहा कि उपचुनाव में दोनों सीटों पर बीजेपी के उम्मीदवारों को आजसू ने अपना समर्थन दिया है. चुनाव में संयुक्त तौर पर अभियान शुरू किया जा रहा है. इस चुनाव औऱ उसके रिजल्ट के जरिये राज्य सरकार की नाकामी उजागर होगी. सरकार दस महीने में अपनी प्राथमिकताएं तय नहीं कर पायी है. चुनावी वादे और घोषणाओं से सरकार लगातार मुंह मोड़ रही है.  जनता के सवाल जस के तस पड़े हुए हैं.

भाजपा और आजसू का साथ महत्वपूर्ण- दीपक प्रकाश

दीपक प्रकाश ने कहा कि बीजेपी और आजसू जब साथ मिलकर चुनाव लड़ती है तो परिणाम हमारे पक्ष में आए हैं. एक बार फिर से एनडीए मौजूदा सरकार के खिलाफ अपनी ताकत दिखाएगी. उन्होंने बताया कि 13 अक्तूबर को दुमका में लुइस मरांडी और 14 अक्तूबर को बेरमो में योगेश्वर महतो बाटुल नामांकन दाखिल करेंगे. इस दौरान एनडीए के सभी घटक दलों के नेता भी मौजूद रहेंगे. एनडीए की ओर से एक चुनाव संचालन समिति का भी गठन किया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः 2014 से पहले देश के हर घर में बेरोजगारी नहीं थी, जो अब मोदी सरकार में नजर आ रही है : अजय कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button