Crime NewsJharkhandRanchi

पैसे और धमकी के बल पर ग्रामीणों से पोस्टरबाजी करा रहे नक्सली, पुलिस जांच में हुआ खुलासा

Ranchi : झारखंड में लोकसभा चुनाव को देखते हुए जहां नक्सलियों ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है. वहीं चुनाव का बहिष्कार करने और दहशत फैलाने के उद्देश्य से लगातार पोस्टरबाजी किए जाने की घटना सामने आ रही है. पुलिस की जांच में यह बात सामने आई है कि नक्सली ग्रामीणों से यह काम कराते हैं.

ग्रामीणों को या तो रुपये दिए जाते हैं या फिर धमकी के बल पर उनसे यह काम कराया जाता है. नक्सली उन्हें पांच से दस हजार रुपया इस काम के लिए देते हैं. और फिर रात के अंधेरे का फायदा उठाते हुए उनसे यह काम कराया जाता है.
पिछले एक महीने में नक्सलियों के नाम पर कई जगहों पर पोस्टरबाजी कर दहशत फैलाने की कोशिश की गयी है.

इसे भी पढ़ें- सीएम मायावती के समय हुए 1179 करोड़ के चीनी मिल घोटाले में सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की

बीच शहर में नक्सलियों के नाम पर की गयी थी पोस्टरबाजी

रांची के बरियातू थाना क्षेत्र में 25 मार्च को एक स्कूल, डाकघर और पेड़ पर नक्सलियों के नाम पर पोस्टरबाजी की गई थी. इसमें चुनाव बहिष्कार की धमकी दी गयी थी. इस कारनामे के पीछे कुख्यात नक्सली कमांडर महाराज प्रमाणिक के द्वारा दूसरे लोगों से पोस्टरबाजी कराए जाने की बात सामने आई थी.

वहीं दूसरी तरफ 25 मार्च को ही चाईबासा समाहरणालय के सामने टाटा कॉलेज की बाउंड्री से सटे पेड़ों, दीवारों और आईटीआई कॉलेज के मुख्य गेट के सामने नक्सलियों ने पोस्टर लगाकर आगामी लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करने की धमकी दी थी. इस मामले में भी नक्सलियों के द्वारा दूसरे लोगों के माध्यम से पोस्टरबाजी करवाने की बात सामने आई थी.

इसे भी पढ़ें- सावधान! तकनीकी रूप से छेड़-छाड़ कर न्यूज विंग के बैनर तले चलायी जा रही है फेक न्यूज

बुंडू से दो लोगों को पुलिस ने किया था गिरफ्तार

तीन अप्रैल को रांची के बुंडू थाना क्षेत्र में नक्सलियों के नाम पर बुंडू के ब्लॉक रोड, काली मंदिर चौक समेत कई जगहों पर पोस्टरबाजी करने का मामला सामने आया था. इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद दोनों से पूछताछ में यह बात सामने आई कि उनका किसी भी नक्सली संगठन के साथ कोई संबंध नहीं है. उन्होंने यह काम नक्सलियों के डरऔर पैसे के लिए किया था.

adv

नक्सलियों के द्वारा दूसरे लोगों से या फिर खुद पोस्टरबाजी करके लोगों के बीज दहशत फैलाने की कोशिश की जा रही है. ग्रामीण व शहरी इलाकों में चुनाव बहिष्कार व सरकार बदलने की धमकी दी जा रही है.

इसे भी पढ़ें- BJP सत्ता में आयी तो जम्मू-कश्मीर से हटाया जाएगा अनुच्छेद 370 : अमित शाह

हाल के दिनों में हुई पोस्टरबाजी की घटनाएं

  • 21 अप्रैल 2019 खलारी थाना क्षेत्र, पिपरवार थाना क्षेत्र और केरेडारी थाना क्षेत्र में भाकपा माओवादियों के नाम पर पोस्टर चिपकाकर संसदीय चुनाव का बहिष्‍कार करने का आह्वान किया गया था.
  • तीन अप्रैल रांची को बुंडू थाना क्षेत्र में नक्सलियों की पोस्टरबाजी से दहशत का माहौल था. बुंडू के ब्लॉक रोड, काली मंदिर चौक समेत कई जगह पर नक्सलियों के नाम पर पोस्टरबाजी की गयी थी.
  • 25 मार्च 20190 राजधानी रांची के बरियातु इलाके में कई जगहों पर नक्सलियों के नाम पर पोस्टरबाजी की गई थी.
  • 25 मार्च 2019 चाईबासा में समाहरणालय के सामने टाटा कॉलेज की बाउंड्री से सटे पेड़ों, दीवारों और आईटीआई कॉलेज के मुख्य गेट के सामने नक्सलियों के नाम पर पोस्टरबाजी की गई थी.

 

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: