GiridihJharkhandLead NewsNEWSTOP SLIDER

गिरिडीह के चिचाकी स्टेशन के समीप नक्सलियों ने रेल पटरी उड़ाया, सात घंटे तक आवागमन बाधित

नक्सलियों ने बिहार-झारखंड बंद की घोषणा की है

Giridih: झारखंड-बिहार बंद की घोषणा के दौरान माओवादियों ने रेल गिरिडीह के चिचाकी स्टेशन के समीप रेल पटरी उड़ाकर बड़ी वारदात को अंजाम देने की कोशिश की. चिचाकी रेलवे स्टेशन से करीब छह सौ मीटर दूर रेल पटरी को माओवादियों ने आईईडी लगाकर उड़ाया. चिचाकी रेल स्टेशन धनबाद वाया पारसनाथ-गया रेलखंड के अधीन है. अप और डाउन रेल लाइन में पड़ता है. नक्सलियों घटना को मध्य रात्रि करीब 12 बजे अंजाम दिया.

 

नक्सलियों ने घटनास्थल पर पर्चा भी फेंका है. बताया जाता है कि चिचाकी रेल स्टेशन के समीप जोरदार धमाके की आवाज सुनकर गैंगमैन ने इसकी स्टेशन मैनेजर को दिया. सीनियर कमांडेंट भी जवानों के साथ चिचाकी रेल स्टेशन पहुंचे. रेल ट्रेक की मरम्मत कराने में जुट गए. करीब सात घंटे आवागमन बाधित रहा. कई ट्रेनों को जहां-तहां रोक दिया गया. कुछ ट्रेनों के रूट भी बदले गये.

 

जानकारी के अनुसार घटना के वक्त पारसनाथ स्टेशन से गंगा दामोदर एक्सप्रेस खुल चुकी थी. जिसे चौधरीबांध स्टेशन में रोक दिया गया. गया से इंटरसिटी एक्सप्रेस भी खुलने वाली थी. इसे भी गया रेलखंड पर ही रोका गया. इस दौरान हटिया इस्लामपुर एक्सप्रेस और लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस को भी पारसनाथ स्टेशन पर ही रोक दिया गया. रेल पटरी की मरम्मती के बाद सुबह सात बजे आवागमन शुरू हो पाया. सीनियर कमांडेंट की मानें तो नक्सलियों ने स्टेशन के समीप एंब्यूस लगाकर रखा हुआ था.

 

Advt

Related Articles

Back to top button