JharkhandRanchi

सुरक्षाबलों के आगे नक्सली दिखे बेबस, मतदाताओं ने भयमुक्त माहौल में किया मतदान

Ranchi :  झारखंड में चौथे व अंतिम चरण के चुनाव में रविवार को गोड्‌डा, दुमका और राजमहल संसदीय क्षेत्रों में हुए चुनाव में सुरक्षा बल के आगे नक्सली बेबस नजर आये. वोट बहिष्कार की धमकी देने वाले नक्सली अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाया. मतदाताओं ने भयमुक्त माहौल में मतदान किया और बढ़ चढ़कर लोकतंत्र के इस पर्व में हिस्सा लिया. बता दें तीनों लोक सभा संसदीय क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा  व्यवस्था के बीच 6258 मतदान केंद्रों पर मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ.

Jharkhand Rai

जहां सुबह के 7 बजे के पहले से ही लोगों का मतदान केंद्रों पर आना शुरू हो गया था. वहीं भयमुक्त वातावरण में मतदान कराने के लिए तीनों लोकसभा संसदीय क्षेत्र के 6258 मतदान केंद्रों पर 37 हजार 398 सुरक्षा बल के जवान तैनात किये गये थे.

इसे भी पढ़ें- पश्चिम बंगाल में फिर हिंसा, बीजेपी ने लगाया टीएमसी पर फर्जी वोटिंग और मारपीट का आरोप

 गोड्डा निशीकांत दुबे के साथ हुई धक्का-मुक्की

गोड्डा लोकसभा संसदीय क्षेत्र से बीजेपी प्रत्याशी निशिकांत दुबे के साथ पोड़ैयाहाट में ग्रामीणों के द्वारा धक्का मुक्की की गयी. जानकारी के मुताबिक, धक्का-मुक्की की घटना उस समय हुई, जब गोड्डा संसदीय क्षेत्र से बीजेपी प्रत्याशी निशिकांत दुबे पोड़ैयाहाट राजकीय मध्य विद्यालय स्थित बूथ का दौरा करने गये थे. वहीं पाकुड़ महेशपुर थाना क्षेत्र के बरमसिया गांव बूथ नम्बर 11 में  मो. फरीद आलम नाम के पुलिस अधिकारी के द्वारा मतदाताओं को एक खास पार्टी के पक्ष में मतदान करने की बात का ग्रामीणों ने विरोध किया जिसके बाद मतदान कार्य से पुलिस अधिकारी को हटा दिया गया.

Samford

 सुरक्षा के किये गये  पुख्ता इंतजाम

दुमका, गोड्डा और राजमहल लोकसभा संसदीय क्षेत्र के 6258 मतदान केंद्रों पर भयमुक्त चुनाव के लिए 37 हजार 398 सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये थे. इनमें केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों की 153 कंपनियां शामिल है झारखंड पुलिस की 61 कंपनियों के अलावा 18 हजार जिला पुलिस के सशस्त्र जवान, 4700 होमगार्ड और 1400 महिला पुलिसकर्मी की ड्यूटी लगाई गई थी. नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में हेलीकॉप्टर से भी निगरानी रखी जा रही थी.

 45 लाख 64 हजार 681 वोटरों ने किया अपने मताधिकार का प्रयोग

दुमका,गोड्डा और राजमहल की लोकसभा संसदीय सीटों  पर 45 लाख 64 हजार 681 वोटरों अपने मताधिकार का प्रयोग किया. इसमें पुरुष मतदाता की संख्या 2364541 और महिला मतदाताओं की संख्या 2200119 है. थर्ड जेंडर वोटर्स की संख्या 21 है. चुनाव के लिए 4830 भवनों में 6258 मतदान केंद्र बनाये गये हैं. कुल 2460 बूथ संवेदनशील और 1745 बूथ अतिसंवेदनशील घोषित किये गये थे और  604 माइक्रो आब्जर्वरों को चुनाव ड्यूटी में लगाया गया था.

इसे भी पढ़ें- ममता बनर्जी नरसंहार करा सकती हैं, केंद्रीय बलों को वहीं रोका जाये :  निर्मला सीतारमण

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: