न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पांकी से एक लाख का इनामी नक्सली विजय उरांव गिरफ्तार

 पलामू, गढ़वा और लातेहार में दर्ज हैं कई आपराधिक मामले

58

Palamu : नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में पलामू पुलिस को एक बार फिर बड़ी सफलता हाथ लगी है. जिला पुलिस और झारखंड जगुआर की संयुक्त कार्रवाई में एक लाख के इनामी नक्सली विरेंद्र उरांव उर्फ राजेश उरांव उर्फ विजय उरांव को पांकी थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है.

mi banner add

कई बड़े हमले का आरोपी है विजय उरांव

विजय उरांव पर पांकी के अलावा जिले के अन्य थानों में कई बड़े आपराधिक मामले दर्ज हैं. विजय लंबे समय से पुलिस की पकड़ में नहीं आ पा रहा था. जिले के पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत महथा ने बताया कि विजय से पुलिस की स्पेशल टीम पूछताछ कर रही है. विजय अपने घर आया हुआ था. इसी सूचना के आलोक में जगुआर और पांकी थाना की पुलिस ने छापेमारी की और उसे गिरफ्तार किया. विजय उरांव पलामू, लातेहार और चतरा के इलाके में कई बड़े हमले का आरोपी है. विजय पर सरकार ने एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया था. विजय पांकी के ताल घाटी में सीरीज लैंड माइंस लगाने, पुलिस पर हमला करने का मुख्य आरोपी है. 2012 में ताल घाटी में सीरीज लैंड माइंस विस्फोट हुआ था, इस विस्फोट में सीआरपीएफ का एक जवान जख्मी हुआ था. इसी दौरान पलामू, चतरा और लातेहार के सीमावर्ती क्षेत्र से सैकड़ों लैंड माइंस बरामद हुआ था.

पूछताछ में नक्‍सली विजय ने दी कई अहम जानकारी

Related Posts

लोहरदगा : मुठभेड़ में JJMP के तीन उग्रवादियों को पुलिस ने किया ढेर, दो AK-47 बरामद

पुलिस के अनुसार कुछ और उग्रवादियों को गोली लगी है जिन्हें उनके साथी लेकर भागने में सफल रहे

पांकी के थाना प्रभारी मनोज तिवारी ने बताया कि विजय पांकी थाना क्षेत्र के डेमा गांव का निवासी है. उसकी लंबे समय से पुलिस तलाश में थी. पूछताछ के दौरान विजय ने कई अहम जानकारियां दी है. इस पर कार्रवाई तेज की गयी है. पुलिस को इससे सफलता मिलने की संभावना है.

इसे भी पढ़ेंः आइपीएस तदाशा मिश्र के बेटे ने खुद को मारी गोली, मौत

इसे भी पढ़ेंः कैग की रिपोर्ट से साबित होता है कंबल घोटाला, पर सरकार जांच के नाम पर कर रही लीपापोती, साल बीत गया, नहीं हुई कोई कार्रवाई

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: