Bihar

नक्सली ने औरंगाबाद में जन अदालत लगाकर जूनियर इंजीनियर व एक महिला को मौत की सजा की धमकी दी

Aurangabad: प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने बिजली विभाग के जूनियर इंजीनियर व एक अन्य महिला कर्मी को जान से मार देने की धमकी दी है. मामला देव थाना क्षेत्र से जुड़ा है. देव औरंगाबाद मुख्य मार्ग स्थित पावर स्टेशन के दीवार पर गुरुवार को पोस्टर चिपका कर दोनों को जन अदालत लगाकर सजा देने का ऐलान किया है. धमकी भरा पोस्टर चिपकने के बाद से कार्यलय के कर्मचारी में डर है.

इसे भी पढ़ें : औरंगाबाद की छात्रा का गया में शव मिला, रेप के बाद हत्या की आशंका

advt

इधर, औरंगाबाद के पुलिस अधीक्षक कांतेश कुमार मिश्रा ने बताया है कि पोस्टर को जब्त कर लिया गया है. पोस्टर की जांच की जा रही है. कुछ लोग असामाजिक तत्वों की हरकत होने की आशंका जता रहे हैं. पावर स्टेशन के दीवार पर चिपके पोस्टर पर हरे रंग से लिखा है- इंसानियत के हत्यारे जेई बिजली विभाग देव के सचिन कुमार, दलित एवं कुचला वर्ग को शोषण करना बंद करो. बकाया बिजली बिल के नाम पर गलत केस कर भोली-भाली जनता को गुमराह करना बंद करो. इंसानियत के हत्यारा, गद्दार, विश्वासघाती सचिन जेई को सजा-ए-मौत का एलान करती है. कमला प्रसाद एसडीओ और एक महिला कर्मी जेई  को रीजनल कमिटी द्वारा मौत की सजा जन अदालत लगाकर देने की घोषणा करती है.

इसे भी पढ़ें : धनबाद में फिर लौट आया गैंग्स ऑफ वासेपुर, खदान, खान और खानदान की खूनी जंग

ऑफिस छोड़ने की नक्सलियों ने धमकी दी

पोस्टर में आगे लिखा है कि गद्दार जेई सचिन कुमार, गद्दार एसडीओ कमला प्रसाद और महिला कर्मी 24 घंटे के अंदर बिजली ऑफिस छोड़ दो. भाकपा माओवादी संकल्प लेती है कि रिश्वतखोर अफसर ऑफिस छोड़ो, अन्यथा जन अदालत में मौत की सजा मुकर्रर की जाएगी. बकाया बिजली बिल लेना बंद करो, गरीब जनता को तंग करना बंद करो और देव बिजली ऑफिस खाली करो. पोस्टर में निवेदक के रूप में जन मुक्ति छापामार, गया ज़ोन कमांड भाकपा माओवादी अंकित है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: