NEWS

नक्सली पवन कुमार को लगा झटका, हाइकोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका

Ranchi : प्रतिबंधित नक्सली संगठन पीएलएफआइ के लिए काम करने का आरोपी हार्डकोर नक्सली पवन कुमार यादव को हाइकोर्ट से बड़ा झटका लगा है. हाइकोर्ट में लातेहार के पीएलएफआइ नक्सली पवन कुमार यादव की जमानत याचिका पर सुनवाई हुई. सुनवाई के बाद फैसला सुनाते हुए पवन यादव की जमानत अर्जी कोर्ट ने नामंजूर कर दी है. पवन पर यूएपीए एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी है. एनआइए ने पवन के खिलाफ चार्जशीट भी दाख़िल की है. जिसमें कई गम्भीर आरोप लगाये गये हैं.

इसे भी पढ़ें – जानिये…क्यों एमएस धौनी को करना पड़ा JSCA को 1800 रुपये का भुगतान

सुधाकरण के भाई बुरेदी की जमानत पर भी हुई सुनवाई

वहीं झारखंड के शीर्ष नक्सलियों में से रहे एक नक्सली सुधाकर उर्फ सुधाकरण के भाई बुरेदी नारायण की जमानत पर भी सुनवाई हुई. कोर्ट ने 23 सितंबर को मामले की अगली सुनवाई की तारीख तय की है. बुरेदी नारायण को 30 अगस्त 2017 को रांची से आधा किलो सोना और 25 लाख रुपये के साथ गिरफ्तार किया गया था.

advt

बुरेदी नारायण और पवन कुमार यादव फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं और एनआईए इस मामले की जांच कर रही है. दोनों आरोपियों की जमानत याचिका पर झारखंड हाइकोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस एचसी मिश्रा और राजेश कुमार दो न्यायधीशों की खड़ंपीठ में हुई.

इसे भी पढ़ेंः जिस ट्रोल आर्मी की बदौलत भाजपा विरोधियों को नीचा दिखाती रही, क्या अब वह समस्या बनती जा रही है!

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button